पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

अमिताभ को बोफोर्स में किसने फंसाया?

अमिताभ को बोफोर्स में किसने फंसाया?

नई दिल्ली. 26 अप्रैल 2012

अमिताभ बच्चन

 

बोफोर्स तोप सौदे में अमिताभ को फंसाने और क्वात्रोचि को बचाने का कथित राज सामने आने के बाद भाजपा समेत दूसरी राजनीतिक पार्टियों ने कांग्रेस पर जम कर वार किया है. कथित दलाली का जिन्न फिर बाहर आने के बाद भाजपा को केन्द्र सरकार और गांधी परिवार को घेरने का मौका मिल गया है. भाजपा ने इस बार अमिताभ बच्चन के बहाने सरकार और गांधी परिवार को घेरने की कोशिश की. भाजपा ने गुरूवार को संसद में कहा कि सरकार देश को यह बताए कि अमिताभ बच्चन को किसके कहने पर फंसाया गया था.भाजपा ने अमिताभ बच्चन का नाम घसीटे जाने की न्यायिक जांच की मांग की है.

भाजपा नेता जसवंत सिंह ने कहा कि उन्हें इस बात की खुशी है कि अमिताभ बच्चन को इस मामले में क्लीन चिट मिली लेकिन इस बात की जांच होनी चाहिए कि उनको किसने फंसाया था. सिंह ने कहा कि बोफोर्स घोटाले के चलते कांग्रेस को सत्ता से बेदखल होना पड़ा था.

उन्होंने कहा कि सरकार के कमजोर रवैए के कारण क्वात्रोचि भारत से निकलने में कामयाब रहा. क्वात्रोचि को सरकार ने सुरक्षित तरीके से देश के बाहर जाने दिया. वहीं भाकपा ने कहा कि बोफोर्स मामले की फाइल दोबारा खोलने चाहिए. इस पर कांग्रेस ने कहा कि बोफोर्स मामलो को सुप्रीम कोर्ट के दिशानिर्देश के बाद बंद किया गया था, इसलिए मामले पर दोबारा चर्चा की जरूरत नहीं है.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

amit [aaamitraj4@gmail.com] kanpur - 2012-04-26 16:45:06

 
  भाजपा कौन सी दूध की धुली है? सभी राजनीतिक पार्टियां सिर्फ अपना फायदा चाहती है उन्हें देश की कोई चिंता नहीं है.  
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in