पहला पन्ना >कला >बात Print | Share This  

डेंजरस इश्क यानी पिछले जन्म की सैर

डेंजरस इश्क यानी पिछले जन्म की सैर

मुंबई. 12 मई 2012

डेंजरस इश्क


किसी फिल्म में नयापन न हो, फिर भी फिल्म चल जाये तो इसका श्रेय फिल्म से कहीं अधिक उसके प्रचार-प्रसार के प्रबंधन को दिया जाना चाहिये. विक्रम भट्ट की थ्रीडी डेंजरस इश्क ऐसी ही फिल्म है. हालांकि फिल्म में निर्देशन और एक्टिंग में तो दम है और निर्देशक ने कोशिश की है कि सस्पेंस को लेकर भी बात बने लेकिन कुल फिल्म इसके बाद भी दमदार नहीं है. फिल्म में सस्पेंस के नाम पर पिछले जन्म के किस्सों को जोड़ने के कारण भी फिल्म कहीं न कहीं कमजोर हुई है. हालांकि विक्रम भट्ट इसे ही फिल्म का मूल तत्व बता रहे हैं.

विक्रम भट्ट की डेंजरस इश्क में करिश्मा कपूर सुपर मॉडल बनी हैं, जिससे बिजनेसमैन रजनीश दुग्गल प्रेम करते हैं लेकिन ऐन शादी से पहले दुग्गल का अपहरण हो जाता है. फिर फिल्म की कहानी पिछले जन्म से जुड़ जाती है. इसके बाद जिमी शेरगिल की एंट्री होती है और वह हीरो को बचा ले जाते हैं.

बॉलीवुड में करिश्मा की वापसी एक अच्छी अभिनेत्री के तौर पर हुई है वरना अभी तक तो उनके हिस्से सरकाय लो खटिया की पहचान ही रही है. इस फिल्म के बाद उन्हें गंभीरता से लिया जाएगा, ऐसी उम्मीद की जानी चाहिये. फिल्म का गीत-संगीत औसत है. कैमरा और फोटोग्राफी के साथ-साथ ड्रेस डिजायनिंग तारीफ के लायक है.