पहला पन्ना >व्यापार >अमरीका Print | Share This  

झूठ बोलने वाले याहू के सीईओ का इस्तीफा

झूठ बोलने वाले याहू के सीईओ का इस्तीफा

सेन फ्रेंसिस्को. 14 मई 2012

स्कॉट थॉम्पसन

 

स्कॉट थॉम्पसन को अंततः याहू के कार्यकारी अधिकारी का पद छोड़ना ही पड़ा. थॉम्पसन पर आरोप है कि उन्होंने नौकरी हासिल करने के लिये कहा था कि उनके पास कंप्यूटर साइंस की डिग्री है. जबकि यह बात बाद में झूठी पाई गई. स्कॉट थॉम्पसन के इस्तीफे के बाद रॉस लेविंसन को इस पद का प्रभार दिया गया है. रॉस लेविंसन इससे पहले याहू कंपनी के ग्लोबल मीडिया हेड के तौर पर काम कर रहे थे.

गौरतलब है कि इंटरनेट की दुनिया की बेताज बादशाह कही जाने वाली याहू कंपनी के एक शेयरधारक डेनियल लोब ने सबसे पहले स्कॉट थॉम्पसन की झूठी डिग्री का मामला उठाया था. उन्होंने इसी आधार पर स्कॉट थॉम्पसन के इस्तीफे की मांग की थी. अब स्कॉट थॉम्पसन को लेकर यह बात सामने आ गई है कि उन्होंने नौकरी के लिये झूठ कहा था, तब याहू कंपनी डेनियल लोब से समझौता करना चाहती है और उन्हें कंपनी के निदेशक मंडल में शामिल किया जा सकता है. फिलहाल फ्रेड एमोरोसो को निदेशक मंडल का चेयरपर्सन बनाया गया है.

याहू कंपनी का कहना है कि स्कॉट थॉम्पसन ने नौकरी पाने के लिये गलत जानकारियां दी थीं. हालांकि स्कॉट थॉम्पसन ही वह शख्श थे, जिन्होंने कंपनी को लाभ पहुंचाने के लिये कई निर्णय लिये थे. इनमें कंपनी में अनावश्यक रुप से काम कर रहे 14 प्रतिशत कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त कर दी थीं, जिससे कंपनी को 38 करोड़ डॉलर की शुद्ध बचत हुई.