पहला पन्ना >राजनीति >उ.प्र. Print | Share This  

एनडी तिवारी दो दिन में दें खून का नमूना

एनडी तिवारी दो दिन में दें खून का नमूना

नई दिल्ली. 14 मई 2012

एन डी तिवारी

 

दिल्ली हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यपाल नारायणदत्त तिवारी को कड़ी फटकार लगाते हुये कहा है कि वह दो दिन में बतायें कि अपना डीएनए टेस्ट कराने के लिये वह खून का नमूना कब दे रहे हैं. पिछले कई महीनों से खून का नमूना देने में आनाकानी कर रहे एनडी तिवारी को कोर्ट ने खून का नमूना नहीं देने की स्थिति में विदेश जाने पर भी रोक लगाने के निर्देश दे दिये हैं. कोर्ट ने यह भी कहा है कि वे बतायें कि स्वेच्छा से वे खून का नमूना देंगे या पुलिस की मदद ली जाये.

गौरतलब है कि पितृत्व विवाद का यह मामला काफी सनसनीखेज रहा है. रोहित शेखर नामक युवक ने आरोप लगाया है कि एनडी तिवारी उसके पिता हैं. शेखर का कहना है कि एनडी तिवारी के उनकी मां उज्ज्वला शर्मा के साथ गहरे ताल्लुकात थे और उन्होंने उनकी मां से शादी करने का वादा किया था जिससे बाद में वे मुकर गए. इस मामले में रोहित शेखर इस मामले को अदालत में ले गये, जहां अदालत ने डीएनए टेस्ट के लिये तिवारी को आदेश दिया था. लेकिन नारायणदत्त तिवारी इससे बचते रहे.

पिछले महीने की 27 तारीख को दिल्ली हाईकोर्ट ने अपने फैसले में कहा था कि अगर एनडी तिवारी डीएनए टेस्ट के लिए खून का नमूना देने से इनकार करते हैं तो इस काम में पुलिस की मदद ली जा सकती है. लेकिन इसके बाद भी एनडी तिवारी ने अपने खून का नमूना नहीं दिया.