पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
 पहला पन्ना > राष्ट्र Print | Send to Friend 

पेट्रोलियम पदार्थों की क़ीमतों में कटौती की घोषणा

पेट्रोलियम पदार्थों की क़ीमतों में कटौती की घोषणा

नई दिल्ली. 29 जनवरी


केंद्र सरकार ने पैंट्रोलियम पर्दाथों के दामों में कटौती की घोषणा की है. बुधवार को देर शाम तक चली कैबिनेट समिति की बैठक में यह फैसला लिया गया. पेट्रोल के दामों में पाँच रुपए और डीजल के दामों में दो रुपए प्रति लीटर कमी हुई है, जबकि घरेलू रसोई गैस के दाम में 25 रुपए प्रति सिलेंडर की कटौती की गई है. नई कीमतों बुधवार रात्रि 12 बजे से लागू हो गई.

इस बारे में पेट्रोलियम मंत्री मुरली देवड़ा ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में कमी का लाभ उपभोक्ताओं तक पहुंचाने के लिए सरकार ने यह फैसला लिया है. उन्होंने ये भी कहा कि पेट्रोलियम उत्पादों पर लगने वाले शुल्कों में कोई बदलाव नहीं किए गए हैं और यह उत्पाद सरकारी नियंत्रण में ही रहेंगे.

गौरतलब है कि विश्व बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में लगातार हो रही भारी गिरावट से देश में पेट्रोल कीमतें कम करने की मांग उठ रही थी. इसलिए पेट्रोलियम मंत्रालय ने गत वर्ष छह दिसंबर को पेट्रोल के दामों में पाँच रुपए और डीजल के दामों में दो रुपए प्रति लीटर की कटौती की थी. परंतु इसे नाकाफी माना जा रहा था. ऐसे में राजनीतिक मामलों की मंत्रीमंडलीय समिति ने बैठक कर पेट्रोल कीमतों में और कटौती फैसला ले लिया.

इधर राजनीतिक हल्कों में इस घोषणा को आगामी लोकसभा चुनावों से जोड़कर देखा जा रहा है. भाजपा ने सरकार पर पेट्रोलियम पर्दाथों की कीमतो में कटौती की घोषणा कर राजनीतिक लाभ लेने का आरोप लगाया है. उधर रेलमंत्री लालू यादव ने कहा है कि सरकार ने ये कटौती आम आदमी को राहत पहुँचाने के लिए की है और इसके पीछे सरकार की कोई राजनीतिक मंशा नहीं है. उन्होंने ये भी कहा कि महिलाओं को हो रही दिक्कतों को देखते हुए ही रसोई गैस के दामों में कटौती की गई है.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   

 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in