पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >राजस्थान Print | Share This  

बाबा रामदेव भड़के आमिर खान पर

बाबा रामदेव भड़के आमिर खान पर

नई दिल्ली. 21 मई 2012

बाबा रामदेव


बाबा रामदेव द्वारा आमिर खान के शो सत्यमेव जयते की आलोचना को लेकर एक नयी बहस शुरु हो गई है. इस शो की सफलता के बाद पहले भी आमिर खान निशाने पर थे लेकिन बाबा रामदेव की आलोचना से ऐसे आलोचकों ने नये सिरे से पूरे शो की परिकल्पना पर सवाल खड़े शुरु कर दिये हैं.

गौरतलब है कि राजस्थान के झुंझुनूं में एक प्रेस वार्ता में बाबा रामदेव ने यह कहते हुये आमिर खान के शो सत्यमेव जयते की आलोचना की थी कि आमिर के टीवी शो में कन्या भ्रूण हत्या पर बनाए गए एपीसोड का मकसद कन्या भ्रूण हत्या रोकना कम और पैसा बनाना ज्यादा है. आमिर पर निशाना साधते हुये बाबा रामदेव ने कहा था कि टीवी शो करने वाले छोरे को सिर्फ साढ़े तीन करोड़ रु. से मतलब है. लोग दहेज के डर से बेटियों को जन्म नहीं देना चाहते हैं. अल्ट्रा साउंड का गलत उपयोग रोकने के लिए सख्ती जरूरी है. बाबा रामदेव का कहना था कि कन्या तब बचेंगी, जब लोग दहेज लेना बंद करेंगे और मां, बहन-बेटियों की इज्जत करना सीखेंगे.

मीडिया विश्लेषक आनंद प्रधान का कहना है कि आमिर खान का प्रोग्राम दरअसल सोशल ऐक्टिविज़म की ब्रैंडिंग है. एक अखबार से बातचीत करते हुये उन्होंने कहा कि हमारे समय में यह ब्रैडिंग टीवी के जरिए की जा रही है और इसमें आमिर खान समेत दूसरे कई लोग शामिल हैं. 'सत्यमेव जयते' के साथ भी आमिर खान प्रॉडक्शंस के अलावा दूसरे स्पॉन्सर्स के व्यावसायिक हित ही जुड़े हुए हैं.

कुछ लोगों ने आमिर के शो को लेकर टिप्पणी की है कि आमिर खान के शो में उन्हीं भावुकताओं, आंसुओं और कंपकंपाते होठों पर कैमरा फोकस किया जा रहा है, जिससे टीआरपी बढ़े. आमिर को लेकर लोगों ने यह सवाल भी खड़े किये हैं कि वह अपनी बात केवल दिल तक पहुंचाना चाहते हैं, दिमाग तक नहीं. वे कश्मीर, पंजाब और नक्सलवाद जैसे मुद्दे पर बात करें तो शो की हकीकत सामने आएगी.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

suresh kumar [] jabalpur - 2012-05-21 14:32:51

 
  बाबाजी शतप्रतिशत सच कह रहे हैं और आमिर खान जो कर रहे हैं वो केवल एक्टिंग है. इन कार्यक्रमों को प्रायोजित कौन कर रहा है और आमिर खान को कितना पैसा मिल रहा है इसका पता लगाओ सच सामने आ जाएगा.  
   
 

mukesh pathak [mukeshpathakji@gmail.com] rampur - 2012-05-21 04:39:53

 
  बाबा रामदेव कहते हैं कि मैं अच्छा काम कर रहा हूँ तो भ्रष्ट मंत्री और सरकार उनकी टांग खिंचाई कर रहे हैं. और उनकी इस बात से हम सहमत भी हैं... लेकिन अब वही बाबा आमिर खान के काम को पैसा बनाने का धंधा कह कर स्वयं अपनी गरिमा कम कर रहे हैं.  
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in