पहला पन्ना >कला >समाज Print | Share This  

सन्नी लियोन को आई शरम और भट्ट?

सन्नी लियोन को आई शरम और भट्ट?

मुंबई. 21 मई 2012

सन्नी लियोन


हर हफ्ते आने वाली फिल्म की खबरों में महेश भट्ट, सन्नी लियोन और जिस्म 2 की चर्चा ही नहीं होने से निराश भट्ट खेमा लगातार ऐसी कोशिश कर रहा है कि किसी भी तरह उनकी फिल्म चर्चा में रहे. अब महेश भट्ट ने एक फिल्मी डायलॉग फेंका है कि हर चमकने वाली चीज गोल्ड नहीं होती, हर पोर्न स्टार बोल्ड नहीं होती. जरा महेश भट्ट के इस संवाद की व्याख्या भी सुन लें. कहा जा रहा है कि जिस्म 2 के कुछ सीन ऐसे हैं कि सन्नी लियोन को भी शरम आ गई और वे असहज हो गईं.

भट्ट कैंप के इस दावे से पहले के संवाद याद करें, जिसमें कहा गया था कि सन्नी लियोन बेहद प्रोफेशनल और प्रतिभावान अभिनेत्री हैं. अब उन्हें कुछ ऐसे निजी किस्म के दृश्य में अनाड़ी बताने की कोशिश की जा रही है, जिसके बारे में यह ख्यात है कि वे इसकी ही खिलाड़ी हैं.

असल में भट्ट खेमा के पास पिछले कई सालों से सुपरहिट फिल्मों का अकाल है. ऐसी-ऐसी फिल्में चमक जा रही हैं, जिनमें बाजार के साथ-साथ भी गहरे सरोकार हैं. खान बंधुओं की फिल्मों ने तो सबको पस्त कर दिया है. ऐसे में महेश भट्ट ने दार्शनिकता के साथ आचार्य रजनीश के संभोग से समाधि तक को जिस्म 2 में पेश करने की बात कही. तहलका मचा तो फिर घोषणा हुई कि इस फिल्म की नायिका पोर्न स्टार सन्नी लियोन होंगी. लेकिन यह सब कुछ करने के बाद भी जिस्म 2 की कहीं चर्चा नहीं हो रही है. आलोचक कहते हैं कि महेश भट्ट अगर बेकार की शोशेबाजी से बाहर आ कर कुछ कलात्मक और सच में समाज से जुड़े सरोकारों को लेकर काम करें तो उनके साथ-साथ फिल्म जगत का भी भला होगा. देह दर्शन को बेचने की उनकी ख्वाइश न तो उनका भला कर पाएगी और ना ही दर्शकों का.