पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राज्य >बिहार Print | Share This  

पथराव के बाद लालू का नीतीश पर निशाना

पथराव के बाद लालू का नीतीश पर निशाना

पटना. 23 मई 2012

नीतीश कुमार


बिहार के बक्सर जिले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले पर पथराव की घटना को लेकर राजनीतिक तलवार खींच गई है. इस पथराव के बाद राजद प्रमुख और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादन ने कहा कि नीतीश कुमार के झूठ का घड़ा फूट गया है, विकास की झूठी कहानी सुनाकर वह बहुत दिनों तक राज नहीं कर सकेंगे. बिहार की बदहाल जनता में आक्रोश है.

गौरतलब है कि बक्सर जिला मुख्यालय से करीब 15 किलोमीटर दूर चौसा में कुछ लोग पानी-बिजली के सवाल पर धरना पर बैठे थे. ग्रामीणों का आरोप था कि उनके इलाके में मुश्किल से 4 घंटे बिजली रहती है. दूसरी बुनियादी सुविधाओं का भी यही हाल है. सरकार इस मुद्दे पर ध्यान नहीं दे रही है. चौसा के लोग चाहते थे कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस मामले में कार्रवाई करें.

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ग्रामीणों की मांग को लेकर कोई ठोस आश्वासन दिये बिना जाने लगे तो कुछ ग्रामीणों ने उनके काफिले पर पथराव कर दिया. पथराव की इस घटना में कई गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गईं. हालांकि राज्य के पुलिस महानिदेशक अभयानंद ने दावा किया है कि मुख्यमंत्री के काफिले पर हमले जैसी वारदात नहीं हुई है. कुछ शरारती तत्वों ने एक वाहन पर पत्थर फेंका था, जिससे उसका कांच टूट गया.

नीतीश कुमार की गाड़ी पर पथराव की खबर आग की तरह फैली और लालू प्रसाद यादव ने उन पर तुरंत निशाना साध दिया. लालू यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार देश के प्रधानमंत्री बनना चाहते हैं. लालू ने कहा कि नीतीश हिंदूवादी संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की गोद में जाकर बैठ गए हैं. जबकि बिहार आज बदहाली के कगार पर पहुंच गया है.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

satyaprakash [satyaprakashrss@gmail.com] delhi - 2012-05-23 12:19:46

 
  लालू जी, आप गब्बर सिंह की तरह अमर हो गये हैं. आप की सुशासन की कहानी हजारों-हजारों साल तक लोग कहानियों में सुन-सुन कर रात में बिस्तर गीला करते रहेंगे. 
   
 

rati kant [ratikantrss@gmail.com] delhi - 2012-05-23 12:14:00

 
  लालू जी, आप हिंदू के नाम पर तो कलंक हैं ही, इंसानियत के नाम पर कलंक हैं. याद करें, अपने शासन को , जिसमें हर दिन कितने लोग मरते थे. याद करें बथानीटोला और लक्ष्मणपुर बाथे गांव की कहानी, जब एक साथ 50-50 लोगों को गोलियों से भून दिया जाता था. 
   
 

ak singh [ak_patna@rediffmail.com] new delhi - 2012-05-23 12:04:19

 
  चोरों को दूसरे सभी भी चोर नजर आते हैं.नीतीश के राज में जनता की उम्मीद बढ़ गई है. लालू यादव का राज नाउम्मीदी से भरा हुआ था. 
   
 

jitendra singh [jsingh837@gmail.com] Hathawa gopal ganj - 2012-05-23 11:46:26

 
  खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे... यही हाल है लालू जी का. 
   
 

ugrasen prasad [ugrasen.prasad.nikhil@gmail.com] delhi - 2012-05-23 11:09:47

 
  ये बिहार की जनता का दुर्भाग्य है. 
   
 

JP Thakur [thakurjaiprakash@gmail.com] - 2012-05-23 10:58:18

 
  अपने शासन के दिन भूल गये लालू साहब...!!! 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in