पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

आरुषि हत्याकांड में 4 जून से सुनवाई

आरुषि हत्याकांड में 4 जून से सुनवाई

नई दिल्ली. 25 मई 2012

आरुषि


आरुषि-हेमराज हत्याकांड में आरुषि के माता-पिता नूपुर व राजेश तलवार पर औपचारिक रूप से आरोप तय कर दिए गये हैं और अब उनके खिलाफ हत्या का मुकदमा शुरू हो गया है. सीबीआई अदालत के न्यायाधीश एस. लाल ने गुरुवार को ही नूपुर और राजेश तलवार पर भारतीय दंड संहिता की धारा 302/34 और 201/34 के तहत आरोप तय करने के आदेश दिए थे. राजेश तलवार को आईपीसी की धारा 203/34 यानी समान इरादे से अपराध के बारे में पुलिस को गुमराह करने के तहत आरोपित करने के भी आदेश दिए गए थे.

गौरतलब है कि 14 वर्षीया आरुषि की उसके नोएडा के जलवायु विहार स्थित घर में 16 मई, 2008 को हत्या कर दी गई थी. उसके अगले दिन घर की छत से घरेलू नौकर हेमराज का शव बरामद किया गया था. इस मामले में अदालत ने शुक्रवार को अपने आदेश में कहा कि सीबीआइ की दलील के अनुसार आरुषि-हेमराज की हत्या गोल्फ स्टिक से हुई. उनके गले सर्जिकल ब्लेड से काटने से यह साबित होता है कि इस वारदात को ऐसे व्यक्ति ने अंजाम दिया जो ब्लेड के इस्तेमाल का एक्सपर्ट हो. अदालत ने आदेश में कहा है कि पत्रावली पर उपलब्ध सामग्री से दोनों अभियुक्तों के विरुद्ध आरोप लगाए जाने का प्रथम दृष्टया पर्याप्त आधार पाया गया है.

इस मामले में गवाही की प्रक्रिया 4 जून से शुरू होगी. इससे पहले गाजियाबाद सेशंस कोर्ट में सुनवाई के दौरान शुक्रवार को तलवार दंपति ने अपने खिलाफ लगाए आरोपों से इंकार किया. नूपुर व राजेश तलवार के वकील का कहना है कि वे सीबीआई की विशेष अदालत के इस फैसले के खिलाफ उच्च न्यायालय में अपील करेंगे. वकील का कहना है कि उनके द्वारा पेश तथ्यों पर ध्यान नहीं दिया गया है.

उधर इलाहाबाद हाईकोर्ट में आज नूपूर तलवार की ज़मानत पर सुनवाई पूरी नहीं हो सकी और अब सोमवार को भी सुनवाई जारी रहेगी. नूपुर तलवार इस समय न्यायिक हिरासत में जेल में हैं जबकि राजेश तलवार अदालत से जमानत पाए हुए हैं.