पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >छत्तीसगढ़ Print | Share This  

छत्तीसगढ़ में कैदियों की गाड़ी पर नक्सली हमला

छत्तीसगढ़ में कैदियों की गाड़ी पर नक्सली हमला

रायपुर. 2 जून 2012 छत्तीसगढ़ संवाददाता

नक्सली


छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित कोंडागांव इलाके में नक्सलियों ने शनिवार दोपहर पेशी में लाए गए कैदियों को लेकर जगदलपुर जा रही जा रही गाड़ी को अपना निशाना बनाया. कोंडागांव के भानपुरी पुल के पास हुए इस विस्फोट में पांच पुलिसकर्मी और तीन कैदियों समेत आठ लोग घायल हो गये. घायलों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है. राज्य में पहली बार राष्ट्रीय राजमार्ग पर विस्फोट किया गया है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार 2 जून की सुबह केंद्रीय जेल जगदलपुर से वाहन क्रमांक सीजी 03 2893 बीस कैदियों को लेकर एक आरक्षक, पांच सिपाही व एक वाहन चालक कोण्डागांव न्यायालय पेशी हेतु पहुंचे. कोण्डागांव न्यायालय में न्यायाधीश के न होने पर उक्त वाहन जगदलपुर हेतु दोपहर डेढ़ बजे कोण्डागांव से रवाना हुई. कोण्डागांव जिला मुख्यालय से लगभग 21 किमी दूर ग्राम जोबा के पास हनुमान मंदिर पुल को उक्त वाहन ने पार किया ही था कि अचानक एक धमाका हुआ और कैदियों से भरी वाहन लगभग 10 फीट नीचे आ गिरी.

विस्फोट की घटना पता चलते ही कोण्डागांव एसपी प्रशांत अग्रवाल तत्काल मौके पर पहुंचे और घायलों को आरएनटी अस्पताल कोण्डागांव भिजवाया. वाहन पर हुये धमाके से प्रधान आरक्षक वीरेन्द्र सोम, चालक राजेश सिंह, आरक्षक रामढले गंभीर रूप से घायल हुए हैं. ये वाहन के सामने सवार थे व धमाका में सामने के हिस्से पर अधिक नुकसान पहुंचा है. दोनों गंभीर को हेलीकॉप्टर से रायपुर भेजा गया है.

उक्त वाहन में मानकूराम, जूगनू, वीरसिंह, महेश बघेल, लहरसिंग, रामधर, जैथनाथ लखमू, रैनू, ईपा, दोगे, अयतू, संतू, सूकलू, बीसीराम तथा पुनाउराम, लालाराम के मामले न्यायालय में चल रहे है. इनमें रामधर, लहरसिंग, दोगे, मानकू, सोनसाय, दिलीप, संतू घायल हुए हैं, जिनका कोण्डागांव आरएनटी अस्पताल में उपचार चल रहा है.

घटना के बाद कोण्डागांव कलेक्टर हेमंत कुमार पहारे, पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल, एएसपी विवेक शुक्ला, एसडीओपी हरीश यादव, नरेन्द्र मिश्रा, परियोजना निर्देशक बी.पी.रात्रे, एसडीएम जोगेन्द्र नायक, तहसीलदार एस.के. टण्डन सहित नगर के समस्त जनप्रतिनिध आरएनटी अस्पताल कोण्डागांव घायलों से मिलने पहुंचे.

बताया जा रहा है कि कैदियों को लेकर आए इन पुलिस जवानों के पास हथियार के नाम पर बस लाठी थी. सूत्रों की मानें तो जिस तरह से गाड़ी को निशाना बनाया गया, उसका मकसद कैदियों को छुड़ाना था.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in