पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

राष्ट्रपति चुनाव 19 जुलाई को

राष्ट्रपति चुनाव 19 जुलाई को

नई दिल्ली. 12 जून 2012 बीबीसी


मुख्य चुनाव आयुक्त वीएस संपत ने मंगलवार को राष्ट्रपति चुनाव का कार्यक्रम घोषित कर दिया है. इसके अनुसार 16 जून को राष्ट्रपति चुनाव की अधिसूचना जारी होगी और 30 जून तक नामांकन दाखिल किए जा सकेंगे. नवनियुक्त मुख्य चुनाव आयुक्त ने अपनी पहली प्रेस कॉन्फ़्रेंस में कहा कि अगर आवश्यकता हुई तो 19 जुलाई को मतदान होगा और 22 जुलाई को मतगणना होगी.

राष्ट्रपति चुनाव का ये कार्यक्रम उपराष्ट्रपति चुनाव पर भी लागू होगा. इस बीच राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार तय करने लिए राजनीतिक गहमा गहमी बढ़ गई है.

ममता बनर्जी दिल्ली आ रही हैं और आने से पहले उन्होंने साफ़ कर दिया है कि वे थोपा हुआ उम्मीदवार स्वीकार नहीं करेंगी.जबकि भाजपा के वरिष्ठ नेता जसवंत सिंह ने मुलायम सिंह यादव से मुलाक़ात कर नई अटकलों को जन्म दिया है.पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी दिल्ली आ रही हैं.

कहा जा रहा है कि वे कांग्रेस अध्यक्ष और यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गाँधी से मुलाक़ात करेंगीं.वे ऐसे समय में दिल्ली आ रही हैं जब ये कहा जा रहा है कि कांग्रेस की ओर से प्रणब मुखर्जी का नाम राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रुप में तय किया जा चुका है.

लेकिन पहले मीरा कुमार, गोपाल गांधी और एपीजे अब्दुल कलाम को अपनी पसंद बता चुकीं ममता बनर्जी ने कहा है कि वे किसी थोपे हुए उम्मीदवार को स्वीकार नहीं करेंगीं. इसका मतलब ये निकाला जा रहा है कि उन्हें प्रणब मुखर्जी का नाम आसानी से स्वीकार नहीं होगा.

ममता बनर्जी ने मंगलवार को दिल्ली पहुँचते ही मुलायम सिंह यादव से मिली हैं.यूपीए को बाहर से समर्थन दे रहे समाजवादी पार्टी के प्रमुख मुलायम सिंह यादव की राय भी ममता बनर्जी की तरह ही राष्ट्रपति का उम्मीदवार तय करने में अहम है.

यदि दोनों मिलकर किसी व्यक्ति विशेष को समर्थन देने की बात करते हैं तो कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. दोनों ने क्या तय किया है अभी ये स्पष्ट नहीं है. दूसरी ओर भाजपा के वरिष्ठ नेता जसवंत सिंह ने मुलायम सिंह यादव से मुलाक़ात करके नई तरह की अटकलों को जन्म दिया है. मीडिया ने पार्टी सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि जसवंत सिंह उपराष्ट्रपति पद की दावेदारी करने जा रहे हैं और इसके लिए वे लॉबिंग कर रहे हैं.

कहा गया है कि भाजपा ने जसवंत सिंह को अभी अधिकृत उम्मीदवार घोषित नहीं किया है लेकिन सूत्रों का कहना है कि यदि राजनीतिक माहौल सकारात्मक दिखता है तो भाजपा उन्हें अधिकृत उम्मीदवार घोषित कर देगी. जसवंत सिंह के नाम पर कांग्रेस को आपत्ति नहीं है, ऐसी ख़बरें हैं. ऐसे में राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति का चुनाव निर्विरोध हो सकता है.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in