पहला पन्ना >राजनीति >बिहार Print | Share This  

शरद यादव ने कहा जबान संभाल के

शरद यादव ने कहा जबान संभाल के

नई दिल्ली. 23 जून 2012

शरद यादव


भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद की आलोचना करने वाले जनता दल युनाइटेड के नेता शिवानंद तिवारी को उनके ही नेता शरद यादव ने सोच समझ कर बोलने की हितायत दी है. जनता दल युनाइटेड के नेता और एनडीए के संयोजक शरद यादव ने शिवानंद तिवारी समेत सभी प्रवक्ताओं से दो-टूक कहा है कि वह किसी भी तरह के बयान देने से पहले नेतृत्व से राय-विचार कर लें. इसके बाद पार्टी के नेताओं की एक बैठक बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निवास पर आयोजित की गई.

गौरतलब है कि शुक्रवार को जनता दल यूनाइटेड के प्रवक्ता शिवानंद तिवारी ने कहा कि जिस तरह प्रणब मुखर्जी ने महंगाई पर काबू पाया, वैसा तो भाजपा के दिग्गज नेता भी न कर पाते. शिवानंद तिवारी ने कहा था कि हम भाजपा और अकाली दल से अपील करते हैं कि वह प्रणब मुखर्जी का समर्थन करे. प्रणब का महंगाई रोकने में कोई मुकाबला नहीं है, अगर भाजपा के नेता रविशकर प्रसाद भी वित्त मंत्री होते तो वे महंगाई को रोक नहीं पाते.

शिवानंद तिवारी के इस बयान के बाद एनडीए में हलचल मच गई. अंततः जनता दल यूनाइटेड के नेता और एनडीए के संयोजक शरद यादव ने इस तरह की बयानबाजी के लिये पार्टी के नेताओं को डांट-फटकार लगाई. शरद यादव ने साफ कहा कि जो लोग भी यूपीए की आर्थिक नीति पर बात कर रहे हैं, वो पहले उनसे बात कर लें इसके बाद ही कोई बयान दें. उन्होंने कहा कि बिहार के मामले में पार्टी के नेता राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से राय लेकर ही अपने बयान जारी करें.

शरद यादव ने एनडीए के भविष्य को लेकर कहा कि यूपीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार प्रणब मुखर्जी को जेडीयू की ओर से समर्थन देना एनडीए में दरार के संकेत नहीं हैं. एनडीए एकजुट है और आगे भी रहेगा. शरद यादव ने कहा कि राष्ट्रपति चुनाव को लेकर प्रणव मुखर्जी को पार्टी का समर्थन देने का आशय यह नहीं है कि हम कांग्रेस पार्टी को समर्थन कर रहे हैं.