पहला पन्ना >राजनीति >पश्चिम Print | Share This  

बच्ची को पेशाब पिलाने वाली वार्डन को जमानत

बच्ची को पेशाब पिलाने वाली वार्डन को जमानत

कोलकाता. 9 जुलाई 2012

बच्ची


विश्व भारती यूनिवर्सिटी के स्कूल के हॉस्टल में बिस्तर गीला करने वाली बच्ची को पेशाब पिलाने वाली हॉस्टल के वार्डन को जमानत मिल गई है. पुलिस ने हॉस्टल वार्डन को एक दिन पहले ही गिरफ्तार किया था. हालांकि केंद्र सरकार से संबद्ध राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग ने पुलिस की कार्रवाई को लेकर आपत्ति दर्ज कराई है.

गौरतलब है कि विश्व भारती के पाथा भवन स्कूल के एक हॉस्टल में बिस्तर गीला करने वाली पांचवीं कक्षा की एक बच्ची को हॉस्टल वार्डन ने पेशाब पिलाने की अमानवीय सजा दी थी. शनिवार को जब काराबी छात्रावास की वार्डन उमा पोद्दार ने हॉस्टल का निरीक्षण करते समय पाया कि एक बच्ची पुनीता ने बिस्तर गीला कर दिया है. पुनीता के परिजनों का आरोप है कि हॉस्टल वार्डन ने इसके बाद पुनीता को खुद का पेशाब पीने के लिये बाध्य किया.

इस घटना के बाद दहशत में पड़ी बच्ची ने पूरा मामला अपनी मां को बताया, जिसके बाद पुनीता के परिजन हॉस्टल पहुंचे और उन्होंने वार्डन के साथ हाथापाई की. बाद में किसी तरह हॉस्टल वार्डन अभिभावकों के चंगुल से बच कर भागी. इस घटना से गुस्साए बच्ची के परिजनों ने बीरभूम जिले के बोलपुर थाने में हॉस्टल वार्डन के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई.

इधर विश्व भारती के प्रवक्ता ने कहा कि इस घटना की जानकारी मिलने के बाद पूरे मामले की जांच के लिए छात्र कल्याण संकाय की पूर्व डीन अरूणा मुखर्जी की अध्यक्षता में चार सदस्यीय समिति का गठन कर दिया गया है. इसकी रिपोर्ट जल्दी ही विश्वविद्यालय के कुलपति को सौंपी जाएगी. इधर राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग ने भी विश्वविद्यालय से पूरे मामले की रिपोर्ट तलब की है.