पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >पश्चिम Print | Share This  

पिंकी को बांध कर किया था लिंग परीक्षण

पिंकी को बांध कर किया था लिंग परीक्षण

कोलकाता. 11 जुलाई 2012

पिंकी प्रमाणिक


बलात्कार का आरोप झेल रही महिला एथलीट पिंकी प्रमाणिक ने जमानत पर रिहा होने के बाद कहा है कि लिंग परीक्षण के दौरान उनके साथ दुर्व्यवहार किया गया. यहां तक कि उनके हाथ-पैर भी बांध दिये गये थे. उन्होंने कहा कि उन्हें साजिश के तहत फंसाया गया है और वे इस मामले में निर्दोष साबित होंगी.

गौरतलब है कि पिंकी प्रमाणिक 400 मीटर और 800 मीटर की दौड़ की रनर रही है. कई अन्य खिताबों के अलावा 2006 में कॉमनवेल्थ गेम्स में उसने सिल्वर मेडल जीता था और बाद में 2006 के एशियन गेम्स में उन्होंने गोल्ड मेडल जीता था. 2005 में एशियन इनडोर गेम्स में उन्होंने गोल्ड मेडल जीता था. करीब तीन साल पहले रोड ऐक्सिडेंट में चोट खाने के बाद उन्होंने ऐथलेक्टिस से रिटायरमेंट ले ली थी. लेकिन पिछले महीने उस समय सनसनी फैल गई जब उत्तरी 24 परगना के बागुइहाटी पुलिस स्टेशन में एक महिला ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई कि एथलीट पिंकी प्रमाणिक ने उस महिला से शादी का वादा किया था लेकिन उसके द्वारा टालमटोल किया जा रहा था.

महिला ने रिपोर्ट में दावा किया कि पिंकी प्रमाणिक महिला नहीं, पुरुष है और उसने महिला का दैहिक शोषण भी किया है. बागुइहाटी थाने के प्रभारी के अनुसार एक महिला द्वारा कुछ माह से उसके साथ बलात्कार की शिकायत के बाद पिंकी को गिरफ्तार किया गया. पुलिस का दावा है कि पिंकी महिला एथलीट नहीं, बल्कि पुरुष है और उससे शादी करने का वादा कर रहा था, लेकिन बाद में इनकार कर दिया. इसके बाद पिंकी प्रमाणिक को गिरफ्तार कर लिया गया. इसके बाद 24 जून को पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिले के एक अस्पताल में उनका जेंडर टेस्ट किया गया था.

बुधवार को पिंकी को जमानत पर रिहा किया गया. जेल से बाहर आने पर उनके पिता दुर्गा चरण प्रामाणिक और एथलीट से राजनेता बनी ज्योतिर्मय सिकदर ने माला पहना कर उनकी अगवानी की. पिंकी ने कहा कि वे अपने वकीलों से सलाह ले रही हैं कि इस मामले में वे किस तरह की कानूनी कार्रवाई कर सकती हैं.
 

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

kush kumar soni [kushsoni69@yahoo.com] kota rajasthan - 2012-07-11 16:22:42

 
  इतनी बड़ी एथलीट जिसने देश का नाम रौशन कियो हो, उसे पुलिस द्वारा उत्पीड़ित किया जाना शर्मनाक है. कानून में ऐसा प्रावधान होना चाहिये कि कोई भी इस तरह से किसी का उत्पीड़न नहीं कर सके. कानून के रक्षक ही कानून तोड़ रहे हैं. यह ठीक नहीं है. 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in