पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

खुदकुशी नहीं, बलिदान के लिये अनशन-केजरीवाल

खुदकुशी नहीं, बलिदान के लिये अनशन-केजरीवाल

नई दिल्ली. 1 अगस्त 2012

अरविंद केजरीवाल


टीम अन्ना के सदस्य अऱविंद केजरीवाल ने आज अपने अनशन के आठवें दिन कहा है कि जब तक सरकार उनकी बात नहीं मान लेती, अनशन जारी रहेगा. उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने जबरजस्ती की तो फिर सरकार से कोई बात नहीं की जाएगी. अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मैं खुदकुशी के लिए नहीं, बल्कि बलिदान के लिए अनशन पर बैठा हूं.

गौरतलब है कि टीम अन्ना के सदस्य अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया और गोपाल राय पिछले 8 दिनों से अनशन कर रहे हैं. इस दौरान डाक्टरों ने इनकी स्थिति को देखते हुये अस्पताल में भर्ती करने की राय दी है लेकिन टीम अन्ना इसके लिये तैयार नहीं है.

बुधवार को टीम अन्ना के सदस्य अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि मेरा अनशन जारी रहेगा और मैं खुदकुशी के लिए नहीं, बल्कि बलिदान के लिए अनशन पर बैठा हूं. केजरीवाल ने कहा कि सरकार उन्हें जबरन अनशन स्थल से उठाकर अस्पताल ले जा सकती है और अगर ऐसा हुआ तो समर्थकों को उन्हें वहां से बाहर निकालने के लिए आगे आना होगा.

अपनी स्थिति के बारे में अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मैं कमजोर हो गया हूं, लेकिन सरकार कह रही है कि वह मुझे अस्पताल में भर्ती करेगी, क्योंकि मैं आत्महत्या की कोशिश कर रहा हूं. लेकिन यदि वह ऐसा करती है, तो आप लोगों को मुझे अस्पताल से बाहर निकाल लेना चाहिए. उन्होंने कहा कि यदि उन्हें सरकारी अस्पताल में भर्ती किया गया, तो वह निश्चित रूप से मर जाएंगे. उन्होंने यह भी कहा कि वह आत्महत्या नहीं कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि यह लोगों के लिए बलिदान है. उन्होंने कहा कि वह सरकारी अस्पताल राम मनोहर लोहिया की उनके स्वास्थ्य के संबंध में दी जा रही जानकारियां लेना बंद कर कर रहे हैं क्योंकि उन्हें इस अस्पताल पर भरोसा नहीं है.

इस अवसर पर अन्ना हजारे ने वहां मौजूद लोगों से कहा, लोग तभी आत्महत्या करते हैं, जब वे किसी परेशानी का सामना कर रहे हों, लेकिन केजरीवाल के साथ ऐसा नहीं है. उन्होंने कहा कि सरकार को अपने भ्रष्ट मंत्रियों की जांच करवानी ही पड़ेगी.