पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >गुजरात Print | Share This  

केशुभाई ने कहा-नरेंद्र मोदी राक्षस

केशुभाई ने कहा-नरेंद्र मोदी राक्षस

नई दिल्ली. 4 अगस्त 2012

केशुभाई पटेल


गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल ने भाजपा से इस्तीफा दे दिया है. राज्य के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ पिछले कई सालों से चल रही तनातनी के बाद भाजपा के इस वरिष्ठ नेता ने नरेंद्र मोदी को राक्षस बताते हुए कहा कि गुजरात की जनता को अब इस राक्षस से मुक्ति पानी ही होगी. उन्होंने अपना इस्तीफा पार्टी अध्यक्ष नितिन गडकरी को भेजा है. उनके साथ इस्तीफा देने वालों में भाजपा के वरिष्ठ नेता कांशीराम राणा भी शामिल हैं.

भाजपा अध्यक्ष को अपना इस्तीफा भेजने की घोषणा करते हुये केशुभाई पटेल ने कहा कि वो सत्ता के लोभ की वजह से पार्टी नहीं छोड़ रहे हैं, अपने कुछ उद्देश्य की वजह से वो भाजपा से नाता तोड़ रहे हैं. उन्होंने राज्य के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी पर प्रहार करते हुये कहा कि गुजरात की जनता को मोदी सरकार से मुक्ति चाहिए, मुक्ति दिलाने के लिए वो अब काम करेंगे.

उन्होंने नरेंद्र मोदी को राक्षस बताते हुये कहा कि पुराने जमाने के किस्सों में जो राक्षस होते थे, उनकी जान कहीं किसी तोते में बसती थी. राक्षस को खत्म करने के लिए नायक उस तोते को मार डालते थे. ऐसे ही इस राक्षस की जान आपके वोटों में है. आप उसे वोट देना बंद कर दें और वह खत्म हो जाएगा.

केशुभाई पटेल ने कहा कि गुजरात की मोदी सरकार जनता से तो दूर हो ही गई है, अब अदालत का भी अनादर कर रही है. सालों बीत जाने के बाद भी मोदी ने राज्य में लोकायुक्त की नियुक्ति नहीं की, और जब राज्यपाल ने लोकायुक्त नियुक्त कर दिया तो मोदी इसके खिलाफ हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट चले गए. अदालत में भी मोदी की किरकिरी हो चुकी है. केशुभाई ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने 2002 में मोदी को राजधर्म का पालन करने की सलाह दी थी. अब राज्य में लोगों की हालत देख कर मैंने प्रजा धर्म का पालन करने का फैसला किया है.

केशुभाई पटेल ने भाजपा की भी आलोचना करने से गुरेज नहीं किया. उन्होंने कहा कि भाजपा में सिद्धांत की बात नहीं रह गई है और अब भाजपा व्यक्ति विशेष की पार्टी बन कर रह गई है. आम जनता पार्टी से कोसों दूर होती जा रही है. केशुभाई पटेल ने कहा कि गुजरात की जनता का हित देखते हुये वे नई पार्टी बनाने जा रहे हैं.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

pradeep [pradeeppatel782@gmail.com] vit vellore - 2012-08-04 17:37:21

 
  मोदी से पंगा ने ले केशु भाई...!!! 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in