पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राज्य >महाराष्ट्र Print | Share This  

अरुण गावली को उम्रकैद की सज़ा

अरुण गावली को उम्रकैद की सज़ा

मुंबई. 31 अगस्त 2012. बीबीसी

arun gawli


मुंबई की एक अदालत ने माफिया से नेता बने अरुण गावली को शिवसेना पार्षद की हत्या के एक मामले में आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है. गावली पर सात लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है.

महाराष्ट्र कंट्रोल ऑफ ऑर्गेनाइज्ड क्राइम एक्ट यानी मकोका की अदालत को इस मामले में मंगलवार को फैसला सुनाना था लेकिन उसने शुक्रवार तक के इसे लिए टाल दिया था.

पिछले शुक्रवार को विशेष अदालत ने इस मामले में 12 आरोपियों को दोषी ठहराया था जबकि तीन अन्य आरोपियों को सबूतों के अभाव में बरी कर दिया था. घाटकोपर से शिव सेना के नेता कमलाकर जामसंदेकर की मार्च 2008 में उनके आवास के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

गावली को इस मामले में घटना के दो महीने बाद ही 21 मई को गिरफ्तार कर लिया गया था और तब से वह जेल में है. बाद में पुलिस ने अक्तूबर 2010 को गावली और अन्य पर मकोका व भारतीय दंड संहिता की अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था.

अरुण गावली पहली बार किसी केस में सजा हुई है. हालाकि, गावली पर इससे पहले भी कई आपराधिक मुकदमे चले, लेकिन पुलिस उन्हें अदालत के सामने दोषी ठहराने में हर बार नाकाम रही.

सुनवाई के दौरान बाला सुर्वे नाम के एक अभियुक्त की मौत हो गई जबकि तीन अन्य अभियुक्त सबूतों के अभाव में बरी कर दिए गए.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

प्रियंका सिंह [rustic.fervor@gmail.com] दिल्ली - 2012-08-31 14:38:39

 
  अब इस पर नरेंद्र मोदी क्या कहेंगे... कुपोषण को सुंदरता से जोड़ने वाले तथाकथित विकास पुरुष की करीबी मंत्री ऐसे जघन्य अपराध में संलिप्त है.... अब कौन सा कार्ड चलेंगे `विकास पुरुष` जी.. 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in