पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >बिहार Print | Share This  

राज ठाकरे पर बरसे नेता

राज ठाकरे पर बरसे नेता

नई दिल्ली. 3 सितंबर 2012

राज ठाकरे


महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के राज ठाकरे द्वारा मीडिया को धमकाने और बिहार के लोगों को घुसपैठिया बता कर खदेड़ने के बयान का चौतरफा विरोध शुरु हो गया है. राज ठाकरे को बढ़ावा देने वाले कांग्रेसी नेताओं ने भी राज ठाकरे की निंदा की है.

गौरतलब है कि पिछले दिनों मुंबई पुलिस ने बिहार पुलिस को जानकारी दिए बिना एक युवक को राज्य के सीतामढ़ी जिले से उठा लिया था जिस पर मुंबई में 11 अगस्त को प्रदर्शन के दौरान एक शहीद स्मारक को नुकसान पहुंचाने का आरोप है. इस मामले पर नाराजगी जताते हुए बिहार सरकार ने मुंबई पुलिस को कानूनी कार्रवाई की धमकी दी थी. इसी बात पर भड़के राज ठाकरे ने कहा कि मुंबई पुलिस पर अगर कोई कार्रवाई हुई तो महाराष्ट्र में बिहारियों को भी घुसपैठिया मान कर मुंबई से खदेड़ दिया जाएगा.

केंद्रीय गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे ने राज ठाकरे के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुये कहा कि इस देश में किसी को भी कहीं भी रहने का अधिकार है. ऐसे में अगर कोई अनर्गल बयानबाजी कर रहा है तो यह दुर्भाग्यजनक है. उन्होंने राज ठाकरे द्वारा मीडिया को धमकाने पर भी कड़ी आपत्ति दर्ज कराई.

भारतीय जनता पार्टी के नेता शिवानंद तिवारी का कहना है कि कांग्रेस की नेता सोनिया गांधी को सका जवाब देना होगा कि इस तरह क्या किसी की समानांतर सत्ता चल सकती है? उन्होंने कहा कि राज ठाकरे के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं किया जाना चिंताजनक है.

इस बीच टीवी समाचार चैनल संपादकों की संस्था ब्रॉडकास्ट एडिटर्स एसोसिएशन ने हिंदी समाचार चैनलों के खिलाफ राज ठाकरे के बयान पर कड़ा ऐतराज जताते हुए इसे लोकतंत्र पर हमला करार दिया है. एसोसिएशन ने कहा है कि ठाकरे का बयान न केवल मीडिया बल्कि लोकतंत्र की जड़ों पर हमला है और यह संविधान, कानून के शासन और समाज के प्रति उनकी अवमानना को प्रदर्शित करता है.

इधर कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा है कि मीडिया ऐसे हर व्यक्ति का बहिष्कार करे जो अपनी बातचीत में उत्तेजक और भड़काऊ बातें करता हो. ऐसे लोग इस तरह की बातें इसलिए करते हैं क्योंकि मीडिया उनकी बातों को कवरेज देता है.

राजग के संयोजक और जदयू के अध्यक्ष शरद यादव ने राज ठाकरे को कांग्रेस के हाथों की 'कठपुतली' बताते हुये आरोप लगाया कांग्रेस राज ठाकरे का इस्तेमाल राज्य में चुनावी फायदे के लिए शिवसेना-भाजपा गठबंधन के खिलाफ कर रही है. कांग्रेस की यह नीति देश के लिये नुकसानदायक है.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पहले ही राज ठाकरे को सिरफिरा बताते हुये कह चुके हैं कि ऐसे किसी ऐरे गैरे की बंदरघुड़की से बिहार में कोई डरने वाला नहीं है.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in