पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >अमरीका Print | Share This  

मोदी को अमरीका वीजा दे

मोदी को अमरीका वीजा दे

शिकागो. 13 सितंबर 2012

नरेंद्र मोदी


गोधरा समेत गुजरात भर में हुये सांप्रदायिक दंगों का कलंक अपने माथे पर झेलने वाले राज्य के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के अमरीका जाने का रास्ता साफ हो सकता है. इसके लिये अमरीकी सांसद ने एक मुहिम शुरु की है. इस सांसद को उम्मीद है कि उनकी यह कोशिश सफल होगी.

गौरतलब है कि अमरीका ने पिछले कुछ सालों में कई बार नरेंद्र मोदी को अपने यहां आने की अनुमति देने से इंकार किया है. पिछले सात सालों से नरेंद्र मोदी को अमरीकन वीजा देने से इंकार किया गया है. उनपर यह प्रतिबंध इमिग्रेशन ऐंड नैशनलिटी ऐक्ट के तहत लगाया गया है.

अब इलिनॉयस से रिपब्लिकन सांसद जोए वाल्श ने अमरीका की विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन को पत्र लिख कर नरेंद्र मोदी को बजाप्ता आमंत्रित करने का सुझाव दिया है. वाल्श का कहना है कि अमरीका में नरेंद्र मोदी के प्रशंसक बड़ी संख्या में हैं और उनसे काफी कुछ सीखा जा सकता है. वाल्श ने अपने पत्र में लिखा है कि जिन कारणों से नरेंद्र मोदी को वीजा देने से मना किया गया है, उसका कोई आधार नहीं है और यह अमरीकन कानून से भी भिन्न है.

वाल्श ने नरेंद्र मोदी की तारीफ में कसीदे काढ़ते हुये कहा है कि नरेंद्र मोदी भ्रष्टाचार पर अपने सख्त रुख के लिए पूरी दुनिया में जाने जाते हैं. उनके प्रयासों के चलते ही गुजरात की तरक्की की मिसाल दी जाती है. उन्हें वीजा देने से इनकार करने के बजाय हमें उन्हें अमरीका आमंत्रित करना चाहिए.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

rajesh srivastava [rajeshkumar11254@gmail.com] lucknow - 2012-09-14 09:08:54

 
  modi thinks for development from where other person ends. he deserves American visa for welfare of America and not for modi. 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in