पहला पन्ना >राजनीति >छत्तीसगढ़ Print | Share This  

संघ के पूर्व प्रमुख सुदर्शन का निधन

संघ के पूर्व प्रमुख सुदर्शन का निधन

रायपुर. 15 सितंबर 2012

सुदर्शन


राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पूर्व सरसंघचालक केएस सुदर्शन का शनिवार की सुबह रायपुर में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. उनका अंतिम संस्कार रविवार को नागपुर में किया जाएगा.

81 वर्षीय सुदर्शन कर्नाटक के मांड्या जिले के कुप्पाली गांव के निवासी थे और उन्होंने 60 साल से भी अधिक समय तक संघ के कार्यकर्ता के रुप में काम किया. 2000 से 2009 तक वे आरएसएस के सरसंघचालक पद पर रहे.

पिछले कुछ समय से अस्वस्थ चल रहे सुदर्शन मैसूर में उस समय चर्चा में आए, जब उनके लापता होने की खबर सामने आई थी. बाद में पता चला कि रास्ता भटक गये थे. इसके बाद वे भोपाल में ईद के अवसर पर नमाज पढ़ने की जिद्द के कारण भी सुर्खियों में आए थे. हालांकि उन्हें भाजपा नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर आधे रास्ते से वापस ले आए थे लेकिन बाद में वे मुस्लिम धर्मगुरुओं से भी मिलने गये और उन्हें ईद की बधाई दी. संघ के इतिहास में यह पहली बार हुआ था, जिसके कारण संघ के एक बड़े धड़े ने उनकी आलोचना भी की.

सुदर्शन के निधन पर भाजपा और संघ के नेताओं ने गहरा शोक प्रकट किया है. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा है कि उनके निधन से एक शून्य पैदा हो गया है, जिसे कभी भरा नहीं जा सकेगा.