पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

डीयू की छात्राओं के साथ दुष्कर्म

डीयू की छात्राओं के साथ दुष्कर्म

नई दिल्ली. 24 सितंबर 2012

गैंगरेप


दिल्ली विश्वविद्यालय की दो छात्राओं के साथ चलती कार में हुये दुष्कर्म की घटना ने कथित रुप से सुरक्षित दिल्ली के सरकारी दावे की पोल खोल दी है. इस घटना में शामिल दुष्कर्मियों की गिरफ्तारी के बाद दिल्ली विश्वविद्यालय के माहौल को लेकर भी सवाल उठने शुरु हो गये हैं. हालांकि पुलिस का कहना है कि वे इस तरह की घटनाओं को लेकर गंभीर हैं लेकिन इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिये आम आदमी की सक्रियता भी जरुरी है.

गौरतलब है कि आउटर दिल्ली के बवाना इलाके से दिल्ली विश्वविद्यालय की दो छात्राओं को उनकी जान पहचान वालों ने पहले अगवा किया और फिर उनके साथ चलती गाड़ी में दुष्कर्म किया. इसके बाद लड़कियों को कंझावला स्थित एक गैराज में ले जाकर भी उनके साथ दुष्कर्म किया गया.

लड़कियों के साथ दुष्कर्म करने वाले दो लड़के और गैराज के मालिक को गिरफ्तार कर लिया गया है. लेकिन इस मामले में शामिल तीसरा आरोपी अभी भी फरार है. पुलिस का कहना है कि बवाना के ही विक्की और सुनील कार से लड़कियों को घूमने के बहाने ले गए और उन्हें रास्ते में नशीला पदार्थ मिला कर कोल्ड ड्रिंक पिला दी.

पुलिस के अनुसार दोनो आरोपी लड़कियों को अजीत सिंह के कंझावला स्थित गैराज तक ले गये, जहां उनके साथ विक्की, सुनील और अजीत ने दुष्कर्म किया. मामला सामने आने के बाद विक्की और गैराज मालिक अजीत सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि तीसरा आरोपी सुनील अभी भी फरार है. पुलिस का कहना है कि वह लगातार छापामारी कर रही है और जल्दी ही तीसरा आरोपी भी पकड़ा जाएगा.