पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

सीबीआई का दफ्तर कांग्रेस मुख्यालय में खुले

सीबीआई का दफ्तर कांग्रेस मुख्यालय में खुले

सूरजकुंड. 26 सितंबर 2012

नीतिन गडकरी


भारतीय जनता पार्टी अगर सत्ता में आई तो वह खुदरा क्षेत्र में विदेशी निवेश की यूपीए के फैसले को पलट देगी. भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्यों की सूरजकुंड में आयोजित बैठक में एफडीआई का कड़ा विरोध किया गया. पार्टी के अध्यक्ष नीतिन गडकरी ने कहा कि सीबीआई को अपना दफ्तर कांग्रेस मुख्यालय में बना देना चाहिये.

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्त रविशंकर प्रसाद ने कहा कि भारतीय जनती पार्टी आर्थिक सुधारों के खिलाफ नहीं है, लेकिन यहां पर लड़ाई आम आदमी के हितों की है. हम एफडीआई की सहभागिता के प्रतिशत को लेकर विरोध नहीं कर रहे, हम पूरी तरह इसके खिलाफ हैं.

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि अगर भारतीय जनता पार्टी सत्ता में आती है तो आपको तुरंत नतीजे देखने को मिलेंगे. इस फैसले को बदला जाएगा. उन्होंने 2002 में इसके समर्थन के सवाल पर कहा कि 2004 में भाजपा ने एफडीआई का समर्थन किया था, लेकिन यह 8 साल पुरानी बात है. आप हमारे मेनिफेस्टो का इंतज़ार कीजिए, आपको पता चल जाएगा. पार्टी एफडीआई के एकदम खिलाफ है.

भारतीय जनता पार्टी की कार्यकारिणी को संबोधित करते हुये पार्टी के अध्यक्ष नीतिन गडकरी ने कांग्रेस की अगुवाई वाली यूपीए सरकार पर जमकर हमला किया. उन्होंने कहा कि देश बदलाव के मुहाने पर खड़ा है. इलेक्शन कभी भी हो सकते हैं. उन्होंने सरकार को 'करप्ट' और 'अक्षम' करार देते हुए कहा कि सरकार के कुशासन का खामियाजा आम आदमी को भुगतना पड़ा है.

नीतिन गडकरी ने कहा कि यूपीए के लोग सीबीआई का दुरुपयोग कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि सीबीआई यूपीए के सहयोगियों को मैनेज करने और विपक्ष को परेशान करने में इतनी निष्ठा से लगी हुई है कि उसे कांग्रेस मुख्यालय में ही अपना ऑफिस खोल देना चाहिए.