पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

देश के लिये पीएम बनेंगे मोदी

देश के लिये पीएम बनेंगे मोदी

नई दिल्ली. 28 सितंबर 2012

नरेंद्र मोदी


गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि भारत का प्रधानमंत्री बनना कोई मुद्दा नहीं है लेकिन वे जनता की सेवा करना चाहते हैं. द इकॉनामिस्ट को दिये गये एक साक्षात्कार में उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री बनने से पहले मैंने सोचा भी नहीं था कि एक दिन मैं मुख्यमंत्री बनूँगा. मेरा मूल मंत्र है कि मैं कुछ भी नहीं बनना चाहता हूँ. लेकिन मैं कुछ करना जरूर चाहता हूँ. नरेंद्र मोदी ने कहा कि कुछ बनने में मेरी कोई रुचि नहीं है लेकिन अपने देश और गरीब लोगों के लिए कुछ करना जरूर चाहता हूँ.

अपने साक्षात्कार में नरेंद्र मोदी ने तानाशाह की तरह काम करने के सवाल पर कहा है कि बिना टीम भावना के एक साल तक काम किया जा सकता है, दो साल तक किया जा सकता है लेकिन 12 वर्षों तक नहीं किया जा सकता.यह असंभव है. उन्होंने कहा कि गुजरात अकेला राज्य है जिसने अपनी नीतियों के मसौदे को नेट पर डाल रखा है. हम लोगों को आमंत्रित करते हैं कि वह उन्हें पढ़ें और अपने सुझाव दें. हम उस पर बहस करते हैं और फिर इसके बाद उस पर फ़ैसला लेते हैं.

गुजरात से बाहर उनकी खराब छवि को लेकर उन्होंने कहा कि पिछले दस वर्षों में आठ बार देश के लोगों ने मुझे भारत का सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री चुना है. यह लोग गुजरात के लोग तो नहीं थे. उन्होंने कहा कि मैं हमेशा आलोचना का स्वागत करता हूँ. लेकिन मैं आरोपों के खिलाफ हूँ. हम अक्सर आरोप सुनते हैं न कि आलोचना. उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लेकर टिप्पणी की कि धर्मनिरपेक्ष होने को लेकर वे कोई दावा नहीं करते. लोगों को जो विचार करना है, वह लोगों पर छोड़ देना चाहिये.