पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

पार्टी बनाने वालों ने किया आंदोलन विभाजित-अन्ना

पार्टी बनाने वालों ने किया आंदोलन विभाजित-अन्ना

नई दिल्ली. 29 सितंबर 2012

anna hajare and arvind kejriwal


अन्ना हजारे ने अपने पूर्व सहयोगी अरविंद केजरीवाल पर अप्रत्यक्ष रूप से निशाना साधते हुए कहा है कि राजनीतिक पार्टी बनाने के निर्णय से भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन विभाजित हुआ है. अपने ब्लॉग में लिखे एक लेख में अन्ना ने कहा है कि राजनीतिक पार्टी बनाने का इच्छुक समूह बार-बार कहता रहा कि अगर अन्ना कहेंगे तो वे पार्टी नहीं बनाएंगे, लेकिन इसके बावजूद वे मेरे निर्णय के खिलाफ चले गए. कईयों ने कहा है कि मैंने पार्टी बनाने पर सहमति दी थी लेकिन यह सही नहीं है, सच तो यह है कि मैं कभी भी राजनीतिक पार्टी बनाने के पक्ष में नहीं था.

बाबा रामदेव के जरिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से उनकी नजदीकियों के आरोपों का जवाब देते हुए अन्ना ने लिखा है कि कई लोग मुझे पक्ष, पार्टी, सांप्रदायिक संगठन के साथ जोड़ने का प्रयास करते हैं लेकिन अब तक जीवन में मेरा किसी भी संगठन से कोई रिश्ता नहीं रहा. मैं अपने जीवन के अंतिम सांस तक किसी पार्टी या संगठन का हिस्सा नहीं बनूंगा.

उन्होंने लिखा है कि हमें 2014 के लोकसभा चुनावों से पहले ही भ्रष्टाचार विरोधी कानून बनाना पड़ेगा. लेकिन ये दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि कानून बनने से पहले भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन दो फाड़ हो गया है इसमें से एक धड़ा चुनाव के पक्ष में है जबकि दूसरा आंदोलन के पक्ष में.