पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

गडकरी ने ठोंका दिग्विजय पर मुकदमा

गडकरी ने ठोंका दिग्विजय पर मुकदमा

नई दिल्ली. 1 अक्टूबर 2012

नितिन गडकरी


भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी ने कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया है. भाजपा अध्यक्ष का कहना है कि दिग्विजय सिंह ने उनके खिलाफ कोयला खदान आवंटन को लेकर बेबुनियाद आरोप लगाये, जिसके कारण उनकी प्रतिष्ठा को ठेस पहुंची है.

नितिन गडकरी की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता पिंकी आनंद ने दिग्विजय सिंह के खिलाफ मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट सुदेश कुमार की अदालत में मामला पेश करते हुये कहा कि कांग्रेस महासचिव ने नितिन गडकरी के खिलाफ आरोप लगाया कि उनके कारोबारी सहयोगी अजय संचेती ने कोयला ब्लॉक आवंटन के चलते सैकड़ों करोड़ रुपयों का लाभ कमाया है. दिग्विजय का यह बयान मीडिया में सुर्खियों में रहा.

वकील ने आरोप लगाया कि दिग्विजय सिंह यह बात जानते थे कि उनका आरोप झूठा है, फिर भी उन्होंने मीडिया को गुमराह किया. उनका स्पष्ट इरादा शिकायतकर्ता की प्रतिष्ठा को ठेस पंहुचाना था. इसके बाद अदालत के निर्देश पर नितिन गडकरी ने अपना बयान दर्ज कराया.

इससे पहले 14 सितंबर को नितिन गडकरी ने दिग्विजय सिंह को एक कानूनी नोटिस भी भेजा था. इस नोटिस में गडकरी ने सिंह की टिप्पसणी को पूरी तरह मनगढ़ंत, असंसदीय और छवि को खराब करने वाला बताया था. लेकिन इस नोटिस पर प्रतिक्रिया देते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि मैं कभी नोटिसों पर प्रतिक्रिया नहीं देता हूं, गडकरी कोर्ट जा सकते हैं. मैं किसी भी सूरत में माफी नहीं मांगूंगा.

गौरतलब है कि दिग्विजय सिंह ने एक बयान में दावा किया था कि गडकरी दरअसल संचेती के बिजनेस पार्टनर हैं और उनके कहने पर ही संचेती की कंपनी एसआरएस इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड को छत्तीसगढ़ में महज 129 रुपए प्रति टन कोयला की दर से ब्लॉक आवंटित किया गया, जबकि उसके पास के एक और कोयला ब्लॉक का आवंटन 530 रुपए टन की दर से आवंटित किया गया है.