पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
 पहला पन्ना > अंतराष्ट्रीय > आतंकवाद Print | Send to Friend | Share This 

भारत आतंकवाद का जवाब देने में अक्षम-अमरीका

भारत आतंकवाद का जवाब देने में अक्षम-अमरीका

मुंबई. 1 मई 2009

 

अमरीका ने कहा है कि भारत आतंकवाद के खतरे का पूरी तरह से जवाब देने में अक्षम है. अमरीकी विदेश विभाग की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि क्षेत्रीय प्रशासनों में समन्वय की कमी और अकुशल न्याय प्रणाली की वजह से ही भारत आतंकवाद के खतरे का पूरी तरह जवाब देने में अक्षम है.

एक समाचार एजेंसी के अनुसार 2008 में वैश्विक आतंकवाद पर आधारित विदेश विभाग की वार्षिक रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत दुनिया के उन देशों में शामिल है, जिन पर आतंकवाद का खतरा सबसे अधिक है.

रिपोर्ट के अनुसार, "भारत सरकार आतंकवाद से मुकाबला करने के लिए प्रतिबद्ध है लेकिन वहां के पुराने पड़ गए कानून और काम के बोझ तले दबी न्याय प्रणाली इसके आड़े आ रही है."

अमरीकी विदेश विभाग का यह भी कहना है कि वर्ष 2008 में हुए आतंकवादी हमलों के आरोपियों के खिलाफ भारत सफलतापूर्वक कानूनी कार्रवाई नहीं कर पाया है.

सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें
 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

Javed Anwar (javedia@rediffmail.com) Durg (C. G.)

 
 Report is correct tht our fight to terrorism get restricted due to slageness and uncooperative working of security agency in one hand and in other hand delay in court decision due to incient legal procedure. What i suggest that their should be a very FAST MOVING COURTS through out the country to deal with terrorism. 
   

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   

 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in