पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >खेल >दिल्ली Print | Share This  

मैच फिक्सिंग में फंसे आईसीसी के अंपायर

मैच फिक्सिंग में फंसे आईसीसी के अंपायर

नई दिल्ली. 9 अक्टूबर 2012

मैच फिक्सिंग


टी-20 वर्ल्ड कप क्रिकेट मैच में अंपायरों द्वारा मैच फिक्सिंग का सनसनीखेज रहस्योद्घाटन होने के बाद आईसीसी यानी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने जांच का काम शुरु कर दिया है. हालांकि आईसीसी ने साफ किया है कि जिन अंपायरों पर आरोप लगाए गए हैं, उनमें से किसी ने भी टी-20 वर्ल्ड कप के आधिकारिक मैचों में अंपायरिंग नहीं की थी.

गौरतलब है कि समाचार चैनल इंडिया टीवी ने एक स्टिंग ऑपरेशन में यह सनसनीखेज रहस्योद्घाटन किया कि टी-20 वर्ल्ड कप मैच के दौरान कम से कम 6 अंपायर ऐसे थे, जो मैच को फिक्स करने के लिये तैयार थे. चैनल ने अपने स्टिंग ऑपरेशन में जिन अंपायरों को दिखाया है, वे श्रीलंका, पाकिस्तान और बांग्लादेश के हैं. जो अंपायर मैच फिक्सिंग के लिये तैयार थे, उनमें रीलंका के गामिनी दिसानायके, मॉरिस विंस्टन और सागर गलागे, बांग्लादेश के नादिर शाह और पाकिस्तान के नदीम गौरी व अनीस सिद्दीकी शामिल हैं.

एक सातवें अंपायर से भी इंडिया टीवी ने संपर्क किया था, लेकिन उस अंपायर ने इस तरह के काम में सहयोग करने से इंकार कर दिया था.

सोमवार को इस स्टिंग ऑपरेशन का चैनल पर प्रसारण होने के बाद ही क्रिकेट की दुनिया में सनसनी फैल गई. बरसों पहले क्रिकेटरों द्वारा मैच फिक्सिंग की घटना के बाद अब अंपायरों द्वारा मैच फिक्सिंग की बात सामने आने के बाद क्रिकेट प्रेमियों में निराशा छा गई.

इधर आईसीसी यानी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने मामले की जांच के लिये इंडिया टीवी से संबंधित ऑपरेशन के फुटेज मांगे हैं.
आईसीसी ने तुरंत एक बयान जारी करते हुये कहा कि आईसीसी और उसके संबंधित सदस्य इंडिया टीवी की तरफ़ से लगाए गए आरोपों से अगवत हुए हैं और हम चैनल से अपील करते हैं कि जो भी सबूत उसके पास हैं, वो उन्हें सौंपे ताकि इस मामले में जो अत्यावश्यक जांच शुरू हुई है उसमें मदद मिल सके. आईसीसी ने अपने बयान में कहा है कि आईसीसी भ्रष्टाचार को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करेगी, चाहे आरोप खिलाड़ियों के ख़िलाफ़ हो या अधिकारियों के ख़िलाफ़.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

Gian Singh [gianujajam@gmail.com] Gurgaon - 2012-10-09 03:13:15

 
  This is very bad that the most reliable persons are in corruption  
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in