पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना > >पाकिस्तान Print | Share This  

कश्मीर मुद्दे पर भारत-पाक के बीच वाकयुद्ध

कश्मीर मुद्दे पर भारत-पाक के बीच वाकयुद्ध

नई दिल्ली. 10 अक्टूबर 2012

india pakistan


संयुक्त राष्ट्र महासभा में कश्मीर मुद्दे पर बहस होने के एक हफ्ते बाद ही फिर भारत और पाकिस्तान के बीच वाकयुद्ध शुरु हो गया है. संयुक्त राष्ट्र में स्पेशल पॉलिटिकल एवं डिकॉलोनाइजेशन कमेटी की आम बहस में पाकिस्तान के स्थाई उपप्रतिनिधी रजा बशीर तरार ने कश्मीर मुद्दे पर बोलते हुए कहा कि `जम्मू-कश्मीर विवाद के समाधान के बगैर संयुक्त राष्ट्र का गैर उपनिवेशवाद का एजेंडा अधूरा रहेगा’. उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान इस मामले का ऐसा शांतिपूर्ण हल ढूंढने के लिए प्रतिबद्ध है, जो कि सभी लोगों को (खासकर जम्मू कश्मीर के लोगों को) स्वीकार्य हो.

पाकिस्तान के इस बयान को अप्रासंगिक ठहराते हुए भारत ने कहा है कि पाकिस्तान ने बहुत दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से जम्मू-कश्मीर के मुद्दे को फिर से उछाला है, जो कि भारत का अभिन्न अंग है. भारतीय दूतावास के प्रथम सचिव प्रकाश गुप्ता ने कहा है कि पाकिस्तानी प्रतिनिधि मंडल की तरफ से आई इस अवांछनीय टिप्पणी को हम पूरी तरह से खारिज करते हैं जिसमें जम्मू-कश्मीर का जिक्र है. यह टिप्पणी इस समिति के संदर्भ से इतर है.

श्री गुप्ता ने यह भी कहा कि भारत का संविधान अपने सभी नागरिकों के मौलिक अधिकारों का संरक्षण करता है और जम्मू-कश्मीर के लोगों ने शांतिपूर्ण तरीके से अपने भविष्य को लेकर फैसला किया है और वे इस पर कायम रहेंगे. उधर भारतीय रुख पर तीखी टिप्पणी करते हुए तरार ने कहा है कि भारतीय प्रतिनिधि अपने अधिकार-क्षेत्र से बाहर की टिप्पणी कर रहे हैं और जम्मू-कश्मीर न तो भारत का अभिन्न अंग है न कभी रहा है.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

devraj singh [devrajsingh1093@rediffmail.com] agra - 2012-10-10 05:16:50

 
  India have to talk about Pakistan occupied Kashmir. Ask Mr. Raza Basir Tarar who the Pakistan divided the occupied Kashmir in to Azad Kashmir and Gilgit–Baltistan(Northern Area) and how they are shouting for Kashmir as they have not secured it and give some part to China to make friendship 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in