पहला पन्ना >राजनीति >समाज Print | Share This  

एकता कपूर को ठगा राजनेता के 'बेटे' ने

एकता कपूर को ठगा राजनेता के 'बेटे' ने

मुंबई. 13 अक्टूबर 2012

एकता कपूर


अपने को कांग्रेस महासचिव जनार्दन द्विवेदी का बेटा बता कर एकता कपूर समेत फिल्म इंडस्ट्री के कई लोगों को चूना लगाने वाले शातिर ठग विजय कुमार जगत नारायण द्विवेदी को अंततः पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. अपने को जे विजय कुमार के नाम से प्रचारित करने वाले इस ठग ने लोगों को यह कह कर झांसे में लिया कि वह सरकार में कोई भी काम करवा सकता है.

पुलिस के अनुसार विजय कुमार जगत नारायण द्विवेदी उत्तरप्रदेश के अमेठी का निवासी है. पहली पत्नी के रहते हुये उसने एक पेस्ट कंट्रोल कंपनी में अपनी एक सहकर्मी से ब्याह किया और फिर दोनों ने दिल्ली की एक एक्टिंग कंपनी में अभिनय का प्रशिक्षण लिया. इस दौरान कॉमनवेल्थ गेम्स के समय उसने अपने प्रशिक्षण केंद्र के प्रिंसपल पर रौब गांठने के ख्याल से तब के खेल मंत्री सुरेश कलमाड़ी को फोन करके अपने जनार्दन द्विवेदी का बेटा होने का हवाला दिया और फिर उनसे गेम्स की 7 टिकटें मांगीं. कलमाड़ी ने टिकटें भिजवा भी दीं. लेकिन जब मामला खुला तो इस ठग को गिरफ्तार कर लिया गया, जहां बाद में उसकी जमानत हो गई.

इसके बाद विजय कुमार जगत नारायण द्विवेदी मुंबई आ गया, जहां उसने फिल्म इंडस्ट्री के लोगों के साथ अपने मेलजोल बढ़ाना शुरु किया. यहां वह लोगों को बताता था कि वह कांग्रेस महासचिव जनार्दन द्विवेदी का बेटा है. इस दौरान उसने कई लोगों को मूर्ख बना कर उनसे पैसे वसूले.

विजय के पास से एक पत्र बरामद हुआ है, जिसे एकता कपूर ने लालू यादव को ‘क्या सुपर कुल हैं हम’ की पब्लिसिटी का अनुरोध किया है. विजय का कहना है कि उसने एकता कपूर को झांसा दिया था कि उसके पिता की वजह से लालू यादव और रामविलास पासवान से अच्छे संबंध हैं और वह उनके काम करवा सकता है. माना जा रहा है कि उसने इसी तरह के झूठे संबंधों का हवाला दे कर कुछ और लोगों से भी पैसे वसूले होंगे. फिलहाल मुंबई की क्राइम ब्रांच पूरे मामले की जांच कर रही है.