पहला पन्ना >न्यायपालिका > Print | Share This  

राहुल गांधी के खिलाफ दायर याचिका खारिज

राहुल गांधी के खिलाफ दायर याचिका खारिज

नई दिल्ली. 18 अक्टूबर 2012

राहुल गांधी


उच्चतम न्यायालय ने कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी को राहत देते हुए उनके खिलाफ दायर याचिका को आधारहीन बताते हुए खारिज़ कर दिया है. न्यायाधीश बीएस चौहान और स्वतंत्र कुमार की पीठ ने अपने आदेश में कहा कि राहुल गांधी पर लगे आरोपों का कोई आधार नहीं है और इनमें लेशमात्र भी सच्चाई नहीं है. पीठ ने अपने आदेश में याचिकाकर्ता किशोर समरीते पर दस लाख का जुर्माना भी लगाया है, जिसमें से पाँच लाख रुपए राहुल गांधी को दिए जाएंगे.

पीठ ने याचिका को खारिज करते हुए कहा कि याचिकाकर्ता समरीते के द्वारा दाखिल की गई याचिका गलत है और उन्होने गलत बयान के आधार पर कानूनी प्रक्रिया का दुरुपयोग किया है. पीठ ने यह भी कहा कि याचिकाकर्ता की अवांछनीय गतिविधि से प्रतिवादी राहुल गांधी की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुँचा है.

गौरतलब है कि कुछ समय पहले समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक किशोर समरीते ने राहुल गांधी पर आरोप लगाया था कि उन्होंने उत्तरप्रदेश की एक लड़की के परिजनों को बंधक बनाया और फिर उस लड़की से बलात्कार किया. लेकिन राहुल गांधी ने उन आरोपों से इंकार करते हुए इलाहाबाद उच्चतम न्यायालय में शपथ पत्र भी दाखिल किया था.

इसके बाद समरीते राहुल गांधी के खिलाफ इलाहाबाद उच्चतम न्यायालय में गए जहां उनके द्वारा लगाए गए आरोपों को खारिज कर दिया था और उन पर 50 लाख रुपए का जुर्माना लगाया था. समरीते ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय के उस आदेश को उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी थी जहां पर भी उनकी याचिका को खारिज कर जुर्माना लगाया गया है.