पहला पन्ना >राजनीति >बात Print | Share This  

स्टूडेंट ऑफ द ईयर फेल

स्टूडेंट ऑफ द ईयर फेल

मुंबई. 19 अक्टूबर 2012

स्टूडेंट ऑफ द ईयर


'स्टूडेंट ऑफ द ईयर' को लेकर जो पहली टिप्पणी सामने आती है, वह यही है कि करण जौहर के पास अब कुछ करने को बचा नहीं है. उनकी प्रतिभा अब चुकने लगी है. कुछ कुछ होता है फिल्म की तर्ज पर करण जौहर ने इस फिल्म में दो लड़कियां और एक लड़के की जगह दो लड़के और एक लड़की की कहानी पेश की है. कहानी क्या है, पुराना फार्मुला है, जिसमें आधुनिकता का असरहीन तड़का है. जाहिर है, यह सब कुछ उन दर्शकों के लिये निराश करने वाला है, जो कुछ खास देखने की उम्मीद में सिनेमाघर का रुख करेंगे.

इस फिल्म में नयी बात है तो केवल मुख्य पात्र के बतौर सामने आये पहली बार तीन कलाकार- आलिया भट्ट, वरुण धवन और सिद्धार्थ मल्होत्रा. हालांकि इनमें से किसी के पास इस फिल्म में कुछ अतिरिक्त प्रतिभा दिखाने का अवसर निर्देशक ने नहीं दिया है. हां, फिल्म के गीत में पुराने लोगों को भी मजा आ सकता है.

हालांकि फिल्म इंडस्ट्री के लोगों ने फिल्म की प्रशंसा के पूल बांध दिये हैं. पूर्व अभिनेत्री और अब निर्माता-निर्देशक बन चुकीं पूजा भट्ट कहती हैं कि करण जौहर को सलाम सिर्फ इसलिए नहीं क्योंकि उन्होंने मेरी बहन को सनसनीखेज डेब्यू दिलाया बल्कि इसलिए क्योंकि उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री को तीन होनहार नए स्टार दिए. सलमान खान ने ट्वीट किया कि आपको ये फिल्म देखने जाना चाहिए. कुछ दोस्तों और परिवार ने फिल्म देखी और पसंद भी किया. खूबसूरत और मनोरंजक ताजातरीन फिल्म और तीनों नए सितारे तो सुपर्ब हैं. करण जौहर के लिए खुशी है. शाहरुख खान ने फिल्म की रिलीज से पहले ट्वीट कर बधाई दी कि मेरा प्यार और शुभकामनाएं फिल्म के साथ हैं. इंशा अल्लाह फिल्म सबको खुशी देगी.