पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

मनमोहन से मांगो जवाब-केजरीवाल

मनमोहन से मांगो जवाब-केजरीवाल

नई दिल्ली. 21 अक्टूबर 2012

अरविंद केजरीवाल


अरविंद केजरीवाल की टीम ने दिग्विजय सिंह द्वारा पूछे गये 27 सवालों पर कहा है कि जिन सवालों के जवाब उन्होंने मांगे हैं, उन सारे सवालों के जवाब सरकार के पास पहले से ही हैं. उन्हें इसका जवाब मनमोहन सिंह, चिदंबरम जैसों से पूछना चाहिये. केजरीवाल टीम ने कहा है कि इनके जवाब जनता के पास पहले से ही हैं. देश का गृह मंत्रालय, वित्त मंत्रालय और दूसरी सभी जांच एजेंसियां लंबे समय से हमारे पीछे लगी हुई हैं. इन सारे सवालों के जवाब श्री सिंह को प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और वित्त मंत्री से पूछने चाहिए थे. उनके पास तो इनके सारे जवाब है.

इंडिया अगेंस्ट करप्शन ने कहा है कि मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए लिए बार-बार ये सवाल उठा दिए जाते हैं. इन सवालों को उठा कौन रहा है? वही दिग्विजय सिंह, जो अन्ना हजारेजी को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का एजेंट कहते हैं. वही दिग्विजय सिंह जो रॉबर्ट वाड्रा और डीएलएफ की लूट को जायज ठहराते हैं. वही दिग्विजय सिंह जो कोयला घोटाले और टूजी स्पेक्ट्रम घोटाले को घोटाला मानने को ही तैयार नहीं हैं.

अरविंद केजरीवाल की टीम ने कहा है कि इन लोगों की वजह से देश में भ्रष्टाचार, बेरोजगारी और अपराध लगातार बढ़ रहा है. जो लोग इन सबके लिए जिम्मेदार हैं वही लोग इन मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए बार-बार हमें तू-तू, मैं-मैं की राजनीति में उलझाना चाहते हैं. आंदोलन में कुछ भी ढंका-छिपा नहीं है. हम ये सारे सवाल हम भ्रष्टाचार से दुखी जनता के बीच रख रहे हैं. अब जनता यह तय करेगी कि हमें श्री दिग्विजय सिंह के सवालों की तू-तू, मैं-मैं में समय गंवाना चाहिए या फिर उस समय का सदुपयोग देश को बचाने के लिए करना चाहिए.