पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

गडकरी पर लगे आरोपों की जाँच हो: दिग्विजय

गडकरी पर लगे आरोपों की जाँच हो: दिग्विजय

नई दिल्ली. 24 अक्टूबर 2012

digvijay singh


कांग्रेस महासचिव ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को चिठ्ठी लिखकर भाजपा अध्यक्ष नितिन गड़करी की कंपनियों पर वित्तीय अनियमितताओं के आरोपों की जाँच करने की मांग की है. अपनी चिठ्ठी में दिग्विजय सिंह ने कहा है कि यह प्रथम दृष्टया कॉर्पोरेट फ्रॉड की जाँच के लिए गठीत गंभीर धोखाधड़ी जाँच कार्यालय से जाँच कराने का मामला बनता है. उल्लेखनीय है कि मिडिया रिपोर्टों के अनुसार भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी की कंपनियों पर वित्तीय अनियमितताओं के आरोप लगे हैं.

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार गडकरी जब महाराष्ट्र के पीडबल्यू मंत्री थे तब आईडियल रोड बिल्डर्स नाम की एक कंपनी को कई सरकार ठेके दुए गये और बाद में इस कंपनी ने गडकरी की कंपनी पूर्ति पॉवर एंड शुगर लिमिटेड़ में भारी निवेश किया था. दिग्विजय ने गड़करी पर यह भी आरोप लगाया है कि गडकरी की कंपनी पूर्ति पॉवर एंड शुगर लिमिटेड में जिन शेयर होल्डर्स ने इक्विटी खरीदी है वह उनकी पूंजी से कई गुना अधिक है. उनके अनुसार गडकरी की इन कंपनियों के डायरेक्टर गडकरी के ड्रायवर, निजी सचिव और उनके कुछ अन्य सहयोगी हैं, जिनके पते भी फर्जी लिखवाए हैं.

इस मामले पर दिग्विजय ने यह भी कहा है कि गडकरी स्वयं हमेशा स्वतंत्र और निष्पक्ष जाँच कराए जाने के लिए तैयार होने की बात करते हैं, अतः भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष होने के नाते यह ठीक होगा कि उनके मामले की सही तरीके से जांच हो और उन्हें अपने आप को निर्दोष साबित करने का उचित अवसर मिले. सिंह ने अपने पत्र के साथ कारपोरेट मामलों के मंत्रालय की अधिकृत साइट से जुटाई गई सूचनाओं की एक रिपोर्ट भी संलग्न की है. उन्होंने कहा कि मीडिया रिपोर्टों और इस रिपोर्ट में कुछ गंभीर बिन्दु हैं जिनपर ध्यान दिये जाने की जरूरत है.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

Rajveer [rajveer_singh_2000@yahoo.com] Mainpuri - 2012-10-24 06:29:24

 
  Digvijay is the India`s worst political leader. He one of the corrupt man. Now most of the congress and BJP leaders are corrupt. We all should think about new alternate for new new lokshabha so we can save our country. Other wise Congress jeopardize the country. Jai Hind 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in