पहला पन्ना >राजनीति >महाराष्ट्र Print | Share This  

त्रिवेदी बिग बॉस से बाहर

त्रिवेदी बिग बॉस से बाहर

मुंबई. 3 नवंबर 2012

असीम त्रिवेदी


कार्टूनिस्ट असीम त्रिवेदी को अंततः बिग बॉस के घर से विदा होना पड़ा. इस बार बिग बॉस से बाहर किये जाने के लिये गुलाबी गैंग की संपत लाल, मॉडल करिश्मा कोटक और हेयरस्टाइलिस्ट सपना भवनानी के अलावा असीम त्रिवेदी को भी शामिल किया गया था. लेकिन माना जा रहा है कि असीम त्रिवेदी को आरपीआई के विरोध के कारण बाहर का रास्ता दिखाया गया. हालांकि चैनल का दावा है कि यह एक सामान्य प्रक्रिया के तहत हुआ है.

दो दिन पहले रामदास अठावले के नेतृत्व वाली रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के कार्यकर्ताओं द्वारा कलर्स टीवी चैनल पर हमले के बाद माना जा रहा था कि कार्टूनिस्ट असीम त्रिवेदी को बिग बॉस से बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता है. आरपीआई का कहना था कि असीम त्रिवेदी ने संविधान का अपमान किया है, इसलिये उन्हें बिग बॉस से बाहर किया जाये. पुलिस के अनुसार संभवतः इसी मांग को लेकर गुरूवार को मोटरसाइकल पर बैठे दो लोगों ने कलर्स टीवी के एक कार्यालय पर हमला किया था.

रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया का तर्क है कि बाबा साहब भीम राव अंबेडकर ने संविधान बनाया था और असीम त्रिवेदी ने उस संविधान का कार्टून बना कर दलित समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचायी है और राष्ट्रीय चिन्ह एवं अन्य संवैधानिक प्रतीकों का पूरी तरह अपमान किया है. ऐसे में उन्हें इस शो में रखा जाना ठीक नहीं है.

गौरतलब है कि महाराष्ट्र सरकार ने राष्ट्रीय प्रतीकों और संविधान का अपमान करने के आरोप में कार्टूनिस्ट असीम त्रिवेदी पर दायर राजद्रोह का मामला वापस ले लिया है. बचाव पक्ष के अधिवक्ता मिहिर देसाई के अनुसार महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई हाईकोर्ट में एक हलफनामा दायर किया है, जिसमें कहा गया है कि त्रिवेदी के खिलाफ राजद्रोह के आरोप वापस लिए जा रहे हैं.

इससे पहले सितंबर में असीम त्रिवेदी को महाराष्ट्र पुलिस ने राष्ट्रीय प्रतीकों के अपमान के आरोप में गिरफ्तार किया था. इसके बाद जब देश भर में विरोध हुआ तो महाराष्ट्र के गृह मंत्री आरआर पाटिल ने कहा था कि पुलिस की जांच पूरी हो चुकी थी. पुलिस हिरासत की मांग करने की कोई जरूरत नहीं थी और राजद्रोह का मामला भी दायर नहीं होना था. सरकार इस मामले में अदालत में अपना पक्ष रखेगी. इधर हाईकोर्ट ने भी सरकार के रवैय्ये की आलोचना की थी.