पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

कांग्रेस की मान्यता रद्द की जाए: स्वामी

कांग्रेस की मान्यता रद्द की जाए: स्वामी

नई दिल्ली. 3 नवंबर 2012. बीबीसी

subramaniam swamy


जनता पार्टी के नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा है कि वो चुनाव आयोग से कांग्रेस पार्टी की मान्यता रद्द किए जाने की मांग करेंगे. उन्होंने कहा है कि कांग्रेस पार्टी ने माना है कि उसने नेशनल हैरल्ड अखबार की मदद के लिए एसोसिएटिड जरनल्स लिमेटिड को 90 करोड़ रुपए का ब्याज मुक्त कर्ज दिया था.

इस बारे में सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर स्वामी में लिखा, “कल कांग्रेस पार्टी द्वारा कर्ज देने की बात स्वीकार करने के बाद मैं आज चुनाव आयोग के सामने पार्टी की मान्यता रद्द करने की मांग करने जा रहा हूं.”

गुरुवार को एक पत्रकार सम्मेलन में सुब्रमण्यम स्वामी ने दावा किया था कि सोनिया और राहुल गांधी ने एक सार्वजनिक ट्रस्ट को निजी संपत्ति में बदल दिया. मुख्य विपक्षी दल भाजपा कह चुकी है कि पार्टियों का फंड राजनीतिक गतिविधियों के लिए होता है और कानून के तहत उसे व्यावसायिक या वित्तीय काम के लिए इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है.

इससे पहले गुरुवार को नई दिल्ली में एक पत्रकार सम्मेलन में सुब्रमण्यम स्वामी ने दावा किया था कि सोनिया और राहुल गांधी ने एक सार्वजनिक ट्रस्ट को निजी संपत्ति में बदल दिया. जिसके बाद राहुल गांधी के कार्यालय ने एक वक्तव्य जारी कर स्वामी के आरोपों को बेबुनियाद और अपमानजनक बताया था और उनके खिलाफ अदालत जाने की बात कही.

हालांकि इसके बाद कांग्रेस ने शुक्रवार को स्वीकार किया था कि पार्टी की ओर से नेशनल हैरल्ड अखबार को बिना ब्याज का कर्ज दिया गया था, लेकिन पार्टी को इसके बदले कोई व्यावसायिक लाभ नहीं हुआ.