पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

आडवाणी ने लिया पीएम इच्छा से संन्यास

आडवाणी ने लिया पीएम इच्छा से संन्यास

नई दिल्ली. 8 नवंबर 2012

लालकृष्ण आडवाणी


भाजपा के पीएम इन वेटिंग रहे लालकृष्ण आडवाणी ने कहा है कि अब उनके मन में प्रधानमंत्री पद की इच्छा नहीं रही है. 85 साल के लालकृष्ण आडवाणी ने अपने जन्मदिन पर साफ किया है कि वे एनडीए की ओर से अगले प्रधानमंत्री पद के दावेदार नही होंगे. उन्होंने कहा कि पार्टी और देश ने मुझे बहुत कुछ दिया है. यह प्रधानमंत्री बनने से कहीं ज्यादा है. एनडीए में एक के बाद एक प्रधानमंत्री पद के दावेदारों के उभरने और अपनी बढ़ती उम्र के कारण माना जा रहा है कि लालकृष्ण आडवाणी ने 'अंगूर खट्टे हैं' वाले अंदाज में पीएम पद को लेकर अपनी राय खुद ही जाहिर कर दी.

पिछले चुनाव तक भाजपा और एनडीए के पीएम इन वेटिंग रहे लालकृष्ण आडवाणी ने कहा कि वह प्रधानमंत्री बनने की इच्छाओं को विराम दे चुके हैं. उन्होंने कहा कि अब इस बारे में सोचने का समय नहीं रहा. आडवाणी ने कहा कि देश और पार्टी की उन्होंने जितनी सेवा की और देश और पार्टी से उन्हें जो कुछ मिला है, उसकी तुलना नहीं की जा सकती.

जन्मदिन के अवसर पर उन्हें बधाई देने के लिये कई नेता उनके निवास पर पहुंचे. उनके घर पहुंचने वालों में भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी भी शामिल हैं. उन्होंने अकेले में लालकृष्ण आडवाणी से 15 मिनट से भी अधिक समय तक बात की. गौरतलब है कि पिछले सप्ताह मीडिया में यह खबर थी कि लालकृष्ण आडवाणी अध्यक्ष पद से गडकरी का इस्तीफा चाहते थे. इसी वजह से आडवाणी पार्टी की कोर कमेटी की बैठक में भी नहीं आये थे. लेकिन आज की मुलाकात के बाद गडकरी आश्वस्त नज़र आये.