पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >कला >समाज Print | Share This  

दिग्विजय को छोड़ेंगी नहीं राखी

दिग्विजय को छोड़ेंगी नहीं राखी

मुंबई. 13 नवंबर 2012

राखी सावंत


राखी सावंत के खिलाफ टिप्पणी करना कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह को भारी पड़ रहा है. राखी सावंत ने कहा है कि दिग्विजय सिंह को वे छोड़ेंगी नहीं, भले वे माफी मांग कर बचने की कोशिश करते रहें. चारों ओर हो रही आलोचना के बीच दिग्विजय सिंह के खिलाफ राखी सावंत ने 50 करोड़ रुपये के मानहानि का मामला भी दर्ज कराने की बात कही है.

इस बीच थाने में दिग्विजय सिंह के खिलाफ की गई शिकायत में राखी सावंत ने कहा है कि मैं दिग्विजय को व्यक्तिगत तौर पर नहीं जानती. इस तरह की टिप्पणी कर उन्होंने मेरी छवि और सम्मान को चोट पहुंचाई है. राखी सावंत ने शिकायत में कहा है कि मैंने अपने वकील एजाज नकवी को निर्देश जारी कर मानहानि का नोटिस जारी करने और दिग्विजय से 50 करोड़ रुपए मुआवजा मांगने को कहा है. यह मेरे अच्छे चरित्र पर गंभीर हमला है.

गौरतलब है कि कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने ट्विट किया था कि अरविंद केजरीवाल और राखी सावंत एक ही तरह की हरकतें कर रहे हैं. दोनों के पास दिखाने के लिए कुछ नहीं है. बाद में राखी सावंत ने दिग्विजय सिंह पर भड़कते हुये कहा था कि यह मेरा शरीर है और मेरा अपना व्यक्तित्व है. उन्होंने सवाल करने वाले अंदाज में कहा कि दिग्विजय सिंह ने कैसे मेरा नाम लिया और कैसे मेरी तुलना केजरीवाल भाई के साथ की. राखी ने कहा कि मैंने किसी से टांगे उधार मांगी हैं क्यान? और हां मैं एक बम हूं, जब फटूंगी तो सब फट जाएंगे.

राखी ने कहा कि कभी कोई मिका, कभी कोई चिका, कभी दिग्विजय सिंह तो कभी बाबा रामदेव, जिसकी जब मर्जी होती है, बोलने लग जाता है. क्या इन सब के पास कोई काम नहीं है. राखी सावंत ने कहा कि इन नेताओं को अपने काम पर ध्यान देना चाहिये और मुझे निशाना बनाना बंद करने चाहिये.

राखी के बयान के बाद दिग्विजय सिंह ने कहा था कि वे राखी सावंत के फैन हैं और उनका इरादा उन्हें ठेस पहुंचाने का नहीं था. अपने बयान के लिये दिग्गी राजा ने राखी सावंत से माफी भी मांगी. लेकिन राखी सावंत अब इस विवाद को भुनाने का कोई भी अवसर हाथ से नहीं जाने देना चाहतीं. ऐसे में उन्होंने तय किया है कि दिग्विजय सिंह के खिलाफ वे अंतिम दम तक लड़ेंगी.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

durga p sahu [dps8875@yahoo.com] gurur - 2012-11-13 10:44:05

 
  लगता है कि दिग्विजय को बराबर का मिला है. 
   
 

S M Sharma [smsharma1@live.in] Indore - 2012-11-13 07:36:14

 
  इसको कहते हैं 100 सुनार की और 1 लौहपिता की. 
   
 

sudhir [sthapa51@gmail.com] dehradun - 2012-11-13 07:27:44

 
  वाकई लगता है दिग्गी ने अपने पैरों पर खुद कुल्हाड़ी मारी है. उनके पीछे भूत लग गया है. 
   
 

ajay kumar yadav [ajaylko88@gmail.com] bangalore - 2012-11-13 07:05:18

 
  छोड़ना नहीं दिग्विजय को, किसी को कुछ भी बोलते रहते हैं. 
   
 

yashwant more [yashwant1957@gmail.com] gudha gwalior mp - 2012-11-13 06:27:58

 
  मुकदमा किया जाना उचित होगा. 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in