पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >मुद्दा >आतंकवाद Print | Share This  

यासिर अराफात का शव कब्र से बाहर

यासिर अराफात का शव कब्र से बाहर

लंदन. 14 नवंबर 2012

यासिर अराफात


फलस्तीन के कालजयी नेता यासिर अराफात का शव कब्रगाह से बाहर निकाला गया है. अब उनके शव की फिर से जांच की जाएगी. माना जा रहा है कि इस जांच के बाद अराफात की कथित हत्या का राज फाश हो सकेगा. अराफात की मौत के बाद से ही यह शक जताया जा रहा था कि उनकी हत्या की गई है.

गौरतलब है कि 2004 में पेरिस के आर्मी अस्पताल में यासिर अराफात की कथित बीमारी के बाद मौत हो गई थी. उस समय उनका पोस्टमॉर्टम नहीं किया गया था और ना ही उनके शव का कोई विशेष जांच किया गया था. लेकिन अल जजीरा टीवी चैनल ने यासिर अराफात पर दिखाये गये एक डाक्यूमेंट्री में दावा किया कि यासिर अराफात को जहर देकर मारा गया था. चैनल ने कुछ जांच दस्तावेजों के हवाले से कहा कि यासिर अराफात को अधिक मात्रा में रेडियोधर्मी पदार्थ दिए गए थे, जिससे कारण वे मारे गये थे.

स्विटजरलैंड के इंस्टीट्यूट ऑफ रेडिएशन फिजिक्स के डायरेक्टर डॉक्टर फ्रैंकोस बौचड ने अल जजीरा को कहा था कि हमारी टीम को अराफात के शरीर में अतिरिक्त पोलोनियम-210 की मात्रा की मिली है. जिससे उनके शरीर के जैविक प्रवाह प्रभावित हुए थे. स्विट्जरलैंड की एक संस्था द्वारा किये गये जांच के अनुसार यासिर अराफात को मारने के लिये पोलिनियम-210 का उपयोग किया गया था. पोलिनियम-210 के कारण यासिर अराफात के रक्त, पसीने और पेशाब के प्रवाह में बदलाव आ गया था. यासिर अराफात जिन कपड़ों का इस्तेमाल करते थे, उन पर बड़ी मात्रा में पोलिनियम-210 पाया गया था. यहां तक कि उनके दांत साफ करने वाले ब्रश पर भी पोलिनियम-210 पाया गया था. यहां तक कि उन्हें दिये जाने वाले खाने में भी पोलिनियम-210 बड़ी मात्रा में पाया गया था.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in