पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >मध्य >समाज Print | Share This  

पत्रकार वेदव्रत गिरी का निधन

पत्रकार वेदव्रत गिरी का निधन

भोपाल. 18 नवंबर 2012

vedvrat giri

स्मृति शेष: अपने परिवार के साथ वेद की एक तस्वीर


मध्यप्रदेश के युवा पत्रकार वेदव्रत गिरी की एक सड़क दुर्घटना में मौत हो गई. उत्तर प्रदेश में अलीगढ़ के पास एक ट्रक ने पीछे से उनकी कार में टक्कर मार दी, जहां वेदव्रत की मौके पर ही मौत हो गई. वे भाई दूज पर अपनी बहन से मिलने बुलंदशहर गये थे, जहां से वापसी में यह हादसा हुआ.

10 अप्रैल 1969 को जन्मे वेदव्रत माखनलाल पत्रकारिता विश्वविद्यालय के पहले बैच के पत्रकार थे और इन दिनों मेरी खबर नामक चर्चित वेब पोर्टल का संपादन-संचालन कर रहे थे. वेद देश के उन चुनिंदा पत्रकारों में शामिल थे, जिन्होंने हिंदी वेब पत्रकारिता और विशेष तौर पर नागरिक पत्रकारिता के मुद्दे पर गंभीरता से काम किया था.

अपने शुरुआती दिनों में दैनिक जागरण में काम करने के बाद वेद ने तीन सालों तक अमर उजाला में काम किया था. बाद में उन्होंने अंग्रेजी पत्रिका राष्ट्रीय सहारा के मध्य प्रदेश संवाददाता के बतौर भी अपनी सेवायें दीं. इंदौर के एक सांध्य अखबार में थोड़े समय तक काम करने के बाद वेद ने टीवी में भी काम किया. उन्होंने दैनिक भास्कर में भी 7 वर्षों तक अपनी सेवायें दीं.

मध्यप्रदेश के राज्यपाल राम नरेश यादव ने कहा है कि वेदव्रत गिरी के निधन से पत्रकार जगत को अपूरणीय क्षति हुई है. राज्यपाल ने कहा कि उन्होंने मध्यप्रदेश सहित देश के विभिन्न प्रांतों में पत्रकारिता के क्षेत्र में जो सेवा की और योगदान दिया है, वह युवा पत्रकारों के लिए प्रेरणादायी है. राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने शोक संदेश में कहा कि वेदव्रत ने प्रदेश में नागरिक पत्रकारिता को बढ़ावा दिया. न्यू मीडिया के प्रतिनिधि पत्रकार के रूप में भी उन्होंने विशिष्ट पहचान बनाई. श्री गिरी के निधन से प्रदेश ने एक प्रतिभा सम्पन्न युवा पत्रकार खो दिया है.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in