पहला पन्ना >कला >दिल्ली Print | Share This  

तलाश में हस्तेक्षप से आमिर का इंकार

तलाश में हस्तेक्षप से आमिर का इंकार

मुंबई. 19 नवंबर 2012

आमिर खान


आमिर खान ने इस बात से इंकार किया है कि उनकी 30 नवंबर को रिलीज होने वाली फिल्म ‘तलाश’ का हश्र ‘धोबी घाट’ जैसा हो सकता है क्योंकि इस फिल्म में भी कई प्रयोग किये गये हैं. आमिर का कहना है कि हरेक फिल्म मेरे लिये प्रयोग की तरह है और लेकिन कोई भी प्रयोग फिल्म को बेहतर बनाने के लिये ही होता है, उसे खराब करने के लिये नहीं.

रानी मुखर्जी, करीना कपूर और नवाजुद्दीन सिद्धिकी के अभिनय वाली इस फिल्म में आमिर ‘बाजी’ और ‘सरफरोश’ के बाद तीसरी बार पुलिस की भूमिका में हैं. हालांकि आमिर और कागती में कुछ दृश्यों को लेकर विवाद की अफवाह भी है, लेकिन दोनों ने इससे संबंधित खबरों का खंडन किया है. इससे पहले तारे ज़मीन पर फिल्म के समय निर्देशक अमोल गुप्ते, पीपली लाइव के समय निर्देशक अनुषा रिजवी के साथ आमिर के झगड़े जगजाहिर हो चुके हैं.

फिल्म की निर्देशक रीमा कागती ने भी आमिर की शान में कसीदे काढ़ते हुये कहा कि तलाश में उनका उत्साह और काम के प्रति उनका समर्पण देखने लायक है. वह फिल्म से बहुत अधिक जुड़े रहे और दृश्य को अच्छे से अच्छा बनाने का प्रयास किया. उन्होंने इसके लिए बहुत प्रयास किये और मुझे लगता है कि उन्होंने मेरी पटकथा को समझने के लिए बहुत सी मुसीबते भी झेलीं.

आमिर खान का कहना है कि उन्होंने यथासंभव फिल्म में कम से कम हस्तक्षेप किया है लेकिन मुझे जहां भी जरुरी लगा, मैंने वहां अपने सुझाव जरुर दिये हैं और रीमा ने मेरे सुझावों को माना भी है.