पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >महाराष्ट्र Print | Share This  

ठाकरे के स्मारक से दूर रहे न्यायपालिका

ठाकरे के स्मारक से दूर रहे न्यायपालिका

मुंबई. 27 नवंबर 2012

बाल ठाकरे


शिव सेना के सुप्रीमो बाल ठाकरे का स्मारक शिवाजी पार्क में ही बनाने पर अड़े हुये शिव सेना ने फिर से कहा है कि यह श्रद्धा का मामला है और इस मामले में कानून और न्यायपालिका को दूर रहना चाहिये. सेना के नेता संजय राउत ने कहा कि बाल ठाकरे का अंतिम संस्कार स्थल मंदिर जैसा है और शिवसैनिकों की श्रद्धा उसके साथ जुड़ी है. इसलिए उस स्थल को शिवसैनिक किसी भी परिस्थिति में नहीं छोड़ेंगे.

गौरतलब है कि इससे पहले नासिक में बाल ठाकरे की स्मृति में आयोजित एक शोक सभा में शिवसेना नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर जोशी ने कहा था कि शिवाजी पार्क में बालासाहेब के स्मारक के निर्माण में कोई कानून आता है तो भी हमें परवाह नहीं है. उन्होंने कहा कि बाल ठाकरे जैसे महान नेता के स्मारक के लिये कांग्रेस पार्टी छोटे-छोटे राजनीतिक विवाद पैदा कर रही है, जिसे शिव सेना बर्दाश्त नहीं करेगी. अब संजय राउत ने भी इसी अंदाज में चेतावनी दी है.

संजय राउत ने कहा कि बाल ठाकरे का अंतिम संस्कार स्थल मंदिर जैसा है और शिवसैनिकों की श्रद्धा उसके साथ जुड़ी है. यह लोगों की श्रद्धा का मामला है और श्रद्धा के मामले में कानून और न्यायपालिका को दूर रहना चाहिए. इस मामले में सरकार और कानून बीच में नहीं आ सकते. उन्होंने कहा कि अंतिम संस्कार स्थल पर शिवसैनिकों ने अखंड ज्योति जला रखी है और किसी कारण से यदि स्मारक बनाने की इजाजत नहीं मिली तो वो स्थल को समाधि के रूप में बरकरार रखना चाहते हैं.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in