पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
 पहला पन्ना > राष्ट्र Print | Send to Friend | Share This 

ममता बैनर्जी ने पेश किया लोकलुभावन रेल बजट

ममता बैनर्जी ने पेश किया लोकलुभावन रेल बजट

नई दिल्ली. 03 जुलाई 2009

 

रेल मंत्री ममता बैनर्जी ने शुक्रवार को लोकसभा में साल 2009-10 का बेहद लोकलुभावन रेल बजट पेश किया. ममता बैनर्जी ने बजट पेश करते हुए कहा कि रेल के विकास से देश का विकास जुड़ा होता है और हर तबके की विकास फायदा पहुँचना चाहिए. इस बजट में रेल मंत्री ने मौजूदा ढांचे को बेहतर बनाने और यात्रियों को साफ सफाई, खानपान और सरक्षा जैसी बुनियादी सुविधाएं पहुँचाने पर ज़ोर दिया है.

रेल मंत्री ने इस बजट में महंगाई से परेशान मध्यम और गरीब तबके के लिए विशेष सहूलियते दी हैं. उन्होंने किसी वर्ग के यात्री किराए में कोई बढ़ोत्तरी नहीं की साथ ही असंगिठ क्षेत्र के कामगारों के लिए 25 रुपए में मासिक पास जैसी सुविधाएं भी उपलब्ध कराने की घोषणा की है. रेलमंत्री ने 50 स्टेशनों को विश्वस्तरीय और 375 अन्य स्टेशनों को आदर्श स्टेशन के रूप में विकसित करने की घोषणा की है. इसके साथ ही उन्होंने 67 नई ट्रेनें जिनमें से 12 नॉन स्टॉप ट्रेन होंगी चलाने की योजना पेश की है.

यह हैं रेल बजट की मुख्य घोषणाएं –

• यात्री एवं माल भाड़े में किसी भी प्रकार की वृद्धि नहीं.

• 50 स्टशनों को विश्वस्तरीय स्टेशनों में बदला जाएगा जिनमें मल्टीप्लेक्स, शॉपिंग मॉल्स, फूड स्टाल, मेडिसिन और वेराइटी स्टोर होंगे. साथ ही 375 अन्य स्टेशनं को आदर्श स्टेशन बनाया जाएगा.

• 67 नई ट्रेनों को चलाने की घोषणा. 27 रेलगाड़ियों का परिचालन क्षेत्र बढ़ाया गया और 13 रेलों के फेरों में वृद्धि की गई.

• अनारक्षित टिकट काउंटरों की संख्या 5000 से बढ़ाकर 8000 किए जाएंगे. 50 मोबाइल रेल टिकट वैन्स की शुरूआत की जाएंगी और देश भर के 5000 पोस्ट ऑफिसेस पर भी रेल टिकट मिलेंगे.

• शताब्दी और राजधानी एक्सप्रेस जैसी लंबी दूरी की ट्रेनों में डॉक्टर उपलब्ध रहेंगे साथ ही मनोरंजन की सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जाएंगी.

• रेलवे कर्मचारियों के लिए 6650 मकान बनाए जाएंगे. रेलवे की जमीन पर 7 नर्सिंग कॉलिज बनेंगे साथ की चतुर्थ वर्ग के कर्मचारियों की बेटियों को छात्रवृत्ति मिलेगी.

• असंगठित ममता क्षेत्र के कामगारों के लिए `इज्जत' स्कीम की घोषणा. इसमें 1500 रुपये से काम आमदनी वालों को 25 रुपये में मंथली पास मिलेगा. इस पर वे 100 किलोमीटर तक की यात्रा कर सकेंगे.

• सैम पित्रोदा के नेतृत्व में ऑप्टिकल फाइबर केबल परियोजना के लिए विशेषज्ञ समिति बनेगी.

• सुरक्षा पर विशेष ध्य़ान दिय़ा जाएगा. महिला कमांडो तैनात की जाएंगी. साथ ही दिल्ली, मुंबई, कोलकाता में महिलाओं के लिए विशेष ट्रेन भी चलाई जाएंगी.

`तुरंत' स्कीम के तहत 12 नान स्टाप, प्वाइंट टू प्वाइंट गाड़ियां चलाई जाएंगी. ये नई गाड़िया होंगी - नई दिल्ली - जम्मू तवी , हावड़ा - मुंबई , मुंबई - पुणे , दिल्ली - इलाहाबाद , दिल्ली - शियालदाह , कोलकाता - अमृतसर , भुवनेश्वर - दिल्ली , एर्नाकुलम - दिल्ली , मुंबई - अहमदाबाद , हावड़ा - दिल्ली , लखनऊ – मुंबई.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   

 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in