पहला पन्ना >राजनीति >गुजरात Print | Share This  

मोदी ने नहीं दी एक भी मुसलमान को टिकट

मोदी ने नहीं दी एक भी मुसलमान को टिकट

अहमदाबाद. 30 नवंबर 2012

नरेंद्र मोदी


गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी भले पिछले कुछ सालों में उदारवादी होने की कोशिश करते नजर आ रहे हों और सद्भावना मिशन की यात्रायें भी निकाली हों लेकिन हकीकत ये है कि मुसलमानों को लेकर उनके पूर्वाग्रह जस के तस बने हुये हैं. राज्य विधानसभा के चुनाव में 181 टिकटों में से एक भी टिकट किसी मुसलमान को नहीं मिली है.

राज्य की 6 करोड़ आबादी में से मुसलमानों की आबादी 60 लाख से कहीं अधिक है. हालांकि मुसलमानों को टिकट देने के मामले में कांग्रेस का भी वही हाल है. कांग्रेस ने केवल 6 मुसलमानों को टिकट दी है.

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष जयनारायण व्यास का कहना है कि हमारे लिये हिंदू मुसलमान मुद्दा नहीं है. हमारे लिये 6 करोड़ गुजराती मुद्दा हैं. ऐसे में टिकट देने के लिये हमने केवल एक ही आधार रखा कि जिसने इन गुजरातियों के लिये काम किया, उन्हें ही टिकट दी गई.

इससे पहले कहा जा रहा था कि भाजपा जमालपुर-खड़िया सीट पर पूर्व आईपीएस अधिकारी और वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष एआई सईद, अहमदाबाद जिले के भाजपा महासचिव युनूस तलत और अल्पसंख्यक वित्त बोर्ड के सदस्य इम्तियाज खान पठान को चुनाव मैदान में उतार सकती है. अब्दासा, वागरा, लिंबायत जैसे मुस्लिम बहुल इलाकों में भी भाजपा मुसलमानों पर दांव खेल सकती है लेकिन ऐसा नहीं हुआ.