पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

सब्सिडी के सिलेंडर गुजरात चुनाव के बाद

सब्सिडी के सिलेंडर गुजरात चुनाव के बाद

नई दिल्ली. 1 दिसंबर 2012

एलपीजी सिलेंडर


गुजरात चुनाव के बाद सब्सिडी वाले सिलेंडरों की संख्या में बढ़ोत्तरी हो सकती है. गुजरात में आगामी विधानसभा चुनावों के मद्देनज़र अभी राज्य में अचार संहिता लगी हुई है इसीलिए माना जा रहा है कि सब्सिडी सिलेंडरों में बढ़ोत्तरी का निर्णय गुजरात चुनाव के परिणाम घोषित होने के बाद लिया जा सकता है. उल्लेखनीय है कि गुजरात विधानसभा चुनावों के परिणाम 20 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे.

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने सितंबर महीने में निर्णय लिया था कि एलपीजी गैस सिलेंडरों पर दी जाने वाले सब्सिडी में कमी करते हुए तय किया था कि साल में केवल 6 सिलेंडरों पर ही सब्सिडी दी जाएगी. लेकिन इसके बाद से ही विपक्ष मांग कर रहा था कि सब्सिडी वाले सिलेंडरों की संख्या 12 कर दी जाए. ऐसे में सब्सिडी वाले सिलेंडरों की संख्या 9 या 12  हो सकती है.

वैसे एक तरफ केंद्र सरकार सब्सिडी वाले सिलेंडरों की संख्या बढ़ाने के बारे में विचार कर रही है वहीं दूसरी ओर सब्सिडी के कारण होने वाले घाटे का रोना भी रो रही है. ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि सरकार अपने निर्णय में वित्तीय घाटे को ज्यादा तवज्जो देती है या इस निर्णय से मिलने वाले संभावित राजनीतिक लाभ को.

इधर पेट्रोलियम मंत्रालय ने एलपीजी ग्राहकों के लिए “अपने ग्राहक को जानें “(केवाईसी) फार्म भरने की अंतिम तारीख एक बार फिर बढ़ाकर 31 दिसंबर कर दी है. पहले यह फार्म जमा करने की समय सीमा 15 नवंबर थी, जिसे बाद में बढ़ाकर 30 नवंबर कर दिया गया था. केंद्र सरकार इस फॉर्म के जरिए एलपीजी ग्राहकों के बारे में जानकारी प्राप्त कर रही है जिससे एक ही पते पर कई गैस कनेक्शनों या फर्जी एलपीजी कनेक्शन को समाप्त किया जा सके.