पहला पन्ना >अंतराष्ट्रीय > Print | Share This  

इज़राइल पर भड़के ब्रिटेन और फ्रांस

इज़राइल पर भड़के ब्रिटेन और फ्रांस

येरुशलम. 4 दिसंबर 2012

benjamin netnayahu


इज़राइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के फिलिस्तीन को लेकर हालिया रुख पर दबाव बनाने की मंशा से ब्रिटेन और फ्रांस ने इज़राइल से अपने राजनयिक वापस बुलाने का निर्णय लिया है. राजनायिक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दोनों देश फिलिस्तीन को संयुक्त राष्ट्र में गैर सदस्यीय पर्यवेक्षक राष्ट्र चुने जाने को लेकर इज़राइल द्वारा किए जा रहे प्रतिरोध से नाखुश हैं और इसीलिए उन्होंने ऐसा कदम उठाया है.

इज़राइल से आ रही मीडिया रिपोर्टों के अनुसार ब्रिटेन और फ्रांस जल्द ही अपने राजनयिक वापस बुला सकते हैं लेकिन अभी तक दोनों देशों ने इस खबर की कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की है. इस पर इज़राइल के उप विदेश मंत्री डेनी एयालोन ने कहा है कि यह पेरिस और लंदन का नेतन्याहू पर दबाव बनाने का प्रयास भर है.

इधर इस मामले पर ब्रिटेन एक आधिकारिक वक्तव्य जारी करते हुए कहा है कि ब्रिटेन बीते सप्ताह फलस्तीन को संयुक्त राष्ट्र द्वारा दिए गए गैर सदस्यीय पर्यवेक्षक राष्ट्र के दर्जे के खिलाफ इजरायल के प्रतिरोध में बिल्कुल सहयोग नहीं करेगा. तेल अवीव स्थित ब्रिटिश दूतावास ने कहा कि तीन हजार नई आवासीय इकाइयां बनाने का इजरायल सरकार का ताजा निर्णय शांति की दिशा में चल रहे प्रयासों में बाधक होगा और हम इज़राइली सरकार से अपने निर्णय पर पुनर्विचार करने का आग्रह करते हैं.