पहला पन्ना >व्यापार > Print | Share This  

अब दूध होगा आयरनयुक्त

अब दूध होगा आयरनयुक्त

चंडीगढ़. 5 दिसंबर 2012

iron fortified milk


नेशनल डेयरी रिसर्च इंस्टीट्यूट (एनडीआरआई) ने ऐसी तकनीक विकसित की है जिससे दूध को आयरनयुक्त बनाया जा सकता है. संस्थान ने केंद्रीय बॉयोटेक्नॉलानी विभाग के दूध को आयरनयुक्त करने का इस प्रोजेक्ट को तकरीबन ढाई साल पहले शुरु किया था और अब उन्हें ऐसी तकनीक बनाने में सफलता मिल गई है. एनडीआरआई के डायरेक्टर एवं वाइस चांसलर डॉ. ए.के.श्रीवास्तव ने इसके बारे में बताते हुए कहा कि इस तकनीक से दूध के रंग, स्वाद, शेल्फ लाइफ, प्रोसेसिंग एवं रखरखाव में कोई बदलाव नहीं होगा.

उन्होंने बताया कि एनडीआरआई जल्द ही इस तकनीक का पेटेंट कराने के लिए आवेदन करेगी. एनडीआरआई आयरनयुक्त दूध का क्लीनिकन ट्रायल मार्च 2013 तक पूरा कर लेगी और पेंटेट प्राप्त करने के बाद यह संस्थान अपनी इस तकनीक को किसी बड़ी कंपनी को बेच देगी जो इसका व्यवसायिक उपयोग कर सकेगी. इसके लिए हाल ही में एनडीआरआई ने अपने एक कार्यक्रम में 44 डेयरी उद्योगों को आमंत्रित किया था.

उल्लेखनीय है कि दूध में प्रोटीन और कैल्शियम की मात्रा प्रचुरता में होती है लेकिन इसमें आयरन और फाइबर नहीं होता है और ऐसे में दूध पीने वाले को संपूर्ण पोषण नहीं मिल पाता है. ऐसे में किसी ऐसी तकनीक का अविष्कार करने का प्रयास किया जा रहा जो दूध के मौजूदा गुणों को बनाए रखने के साथ-साथ उसमें आयरन के पौष्टिक गुणों का समावेश भी कर सके. दूध को आयरनयुक्त करने के अलावा भी एनजडीआरआई ने डेयरी उत्पादों से जुड़े क्षेत्र में काफी काम किया है जिसमें बाजरा युक्त लस्सी, दूध व बाजरा युक्त बिस्कुट तैयार करने की तकनीक का विकास भी शामिल है.