पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >व्यापार > Print | Share This  

नौकरशाही के चलते पिछड़े भारतीय उद्योग

नौकरशाही के चलते पिछड़े भारतीय उद्योग

मुंबई. 8 दिसंबर 2012

ratan tata


प्रसिद्ध उद्योगपति रतन टाटा का मानना है कि केंद्र सरकार की निष्क्रीयता के कारण देश में पर्याप्त निवेश नहीं हो रहा है और भारतीय कंपनियां अपने पाँव विदेशों में फैलाने के लिए मजबूर हैं. टाटा का कहना था कि सरकारी सहयोग में कमी की वजह से भारतीय उद्योग चीन से प्रतिस्पर्धा नहीं कर पा रहे हैं. टाटा समूह के निर्वतमान प्रमुख रतन टाटा ने ये विचार एक समाचार पत्र को दिए गए साक्षात्कार में व्यक्त किए हैं.

उनके अनुसार टाटा समूह ने दूसरे उभरते बाजारों में विस्तार की योजना इसीलिए बनाई क्योंकि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह नौकरशाही दूर करने में विफल रहे हैं. केंद्र की यूपीए सरकार पर एकजुट होकर काम ने करने का दोषी बताते हुए टाटा बोले कि हमारे यहां प्रधानमंत्री कार्यालय कुछ और बयान दे सकता है और उन्हीं की सरकार का मंत्री कुछ और, जबकि दूसरे देशों में ऐसा कुछ नहीं होता.

अलग-अलग सरकारी एजेंसियों के काम करने के तरीकों पर सवाल उठाते हुए रतन टाटा ने कहा कि हमारे यहां अलग-अलग एजेंसियां एक ही कानून का अलग-अलग मतलब निकालती हैं और उसे अपने फायदे के लिए इस्तेमाल करती हैं. उनके अनुसार टाटा समूह ने अपने नैतिक मूल्यों के कारण कारोबार में भारी कीमत चुकाई है. उन्होंने यह भी कहा कि अगर भारत सरकार यहां की कंपनियों को प्रोत्साहन और सहारा दे तो देश चीन से आराम से मुकाबला कर सकता है.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

kailash [kcyadavisme@gmail.com] alwar - 2012-12-08 06:24:42

 
  Ratan tata speak truth because some central govt ministers are corrupt  
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in