पहला पन्ना > राज्य > झारखंड Print | Send to Friend | Share This 

झारखंड में सितंबर तक विधानसभा चुनाव मुमकिन

झारखंड में सितंबर तक विधानसभा चुनाव मुमकिन

नई दिल्ली. 15 जुलाई 2009


झारखंड में राष्ट्रपति शासन छह महीने के लिए बढ़ा दिया गया है. संसद ने विपक्ष द्वारा भारी विरोध के बावजूद इस आशय में अपनी मंजूरी दे दी है. गौरतलब है कि राज्य में चल रहे राष्ट्रपति शासन की मियाद 13 जुलाई को खत्म हो गई है. इधर गृहमंत्री पी. चिदंबरम ने भरोसा दिलाया है कि उनके द्वारा उपयुक्त समय पर राज्य में विधानसभा चुनाव कराने की कोशिश की जाएगी. ये चुनाव संभवतः मानसून खत्म होने के बाद सितंबर माह में हो सकते हैं.

लोकसभा में मंगलवार को कैबिनेट में पहले ही मंजूर हो चुके प्रस्ताव को पेश किया गया. इसके बाद विपक्ष की ओर से राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मंडा ने इसका पुरज़ोर विरोध किया. उन्होंने कांग्रेस पर लोकसभा चुनावों के साथ ही झारखंड में विधानसभा चुनाव ना कराने के पीछे की मंशा पर सवाल उठाया.

इसका जवाब देते हुए गृहमंत्री चिदंबरम ने स्पष्ट किया की राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने की फिलहाल कोई संभावना नहीं है और छह महीने तक राष्ट्रपति शासन बढ़ाय़ा जाना भी किसी राजनीतिक इच्छा से प्रेरित नहीं है. उन्होंने यह भी कहा कि सरकार चुनाव आयोग से आग्रह कर जल्द से जल्द राज्य में चुनाव करवाने का प्रयास करेगी.