पहला पन्ना >व्यापार > Print | Share This  

अगले वित्त वर्ष से लागू होंगे मानक चेक

अगले वित्त वर्ष से लागू होंगे मानक चेक

मुंबई. 15 दिसंबर 2012

cheques


भारतीय रिज़र्व बैंक ने उन्नत सुरक्षा मानकों के साथ नए चेक जारी करने की समय सीमा बढ़ा दी है. रिज़र्व बैंक ने नए चेकों को जारी करने में आ रही असुविधा को देखते हुए ये कदम उठाया है. अब ये नए चेक अगले वित्तीय वर्ष के शुरुआत यानी 1 अप्रैल 2013 से लागू होंगे. इस फैसले के कारण बैंक के ग्राहक मार्च 2013 के अंत तक अपने पुराने चेकों का इस्तेमाल जारी रख सकते हैं. उल्लेखनीय है कि इससे पहले रिज़र्व बैंक ने चेक ट्रांसेक्शन सिस्टम (सीटीएस-2010) को लागू करने के 31 दिसंबर तक का समय तय किया था.

सीटीएस-2010 प्रणाली के लागू होने के बाद चेक काफी कम समय में क्लीयर हो जाएंगे हैं. अभी यह प्रणाली एनसीआर समेत सभी बड़े शहरों में लागू हैं. लेकिन दूसरे शहरों और कस्बों में इसको सुविधा का लागू करने के लिए ग्राहकों को नए चेकों दिए जाने की जरूरत होगी और बैंकों को भी नेटवर्क में अमूलचूल बदलाव करने होंगे. इसी में आने वाली व्यवहारिक दिक्कतों के मद्देनज़र बैंको ने रिज़र्व बैंक से इसकी समयसीमा बढ़ाने की मांग की थी.

इसके बाद रिज़र्व बैंक की ओर से भी ये कहा गया कि 31 दिसंबर तक सभी पुराने चेकों को बदलना और देशभर के बैंकों के नेटवर्क को स्कैनर से जोड़ने में मुश्किल आएगी. जिसको देखते हुए ये तिथि मौजूदा 31 दिसंबर से बढ़ा देनी चाहिए. इसके बाद रिजर्व बैंक ने शुक्रवार को एक अधिसूचना जारी कर कहा है कि, ‘बैंकों की चिंताओं को ध्यान में रखते हुए समय सीमा 31 मार्च, 2013 तक बढ़ाने का निर्णय किया गया है जिससे बैंकों के लिए गैर-सीटीएस-2010 मानक चेकों को वापस लेना और उनकी जगह सीटीएस-2010 मानक चेक जारी करना सुनिश्चित हो सकेगा.’