पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

600 रुपये में पांच लोगों का राशन

600 रुपये में पांच लोगों का राशन

नई दिल्ली. 16 दिसंबर 2012

शीला दीक्षित


दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का मानना है कि 5 सदस्यों का एक परिवार हर महीने केवल 600 रुपये में आसानी से अपना राशन खरीद सकता है. शीला दीक्षित के इस बयान को लेकर विपक्ष ने कड़ी आपत्ति दर्ज कराई है. गौरतलब है कि इससे पहले मोंटेक सिंह अहलुवालिया ने कहा था कि 29 रुपये में किसी व्यक्ति का गुजारा आसानी से हो सकता है.

शीला दीक्षित ने राजधानी दिल्ली के त्यागराज स्टेडियम में अन्न श्री योजना का शुभारंभ करते हुए कहा कि देश में गरीबी हटाने की दिशा में यह एक बड़ा प्रयास है. उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार की इस महत्वकांक्षी योजना के तहत जरूरतमंद परिवारों को हर महीने 600 रुपए राशन खरीदने के लिए सब्सिडी के रूप में दिए जाएंगे. यह राशि उस परिवार की महिला सदस्य के खाते में सीधे जमा की जाएगी.

शीला दीक्षित ने कहा कि 5 लोगों के परिवार का राशन खर्च आराम से 600 रुपए महीने में चल सकता है. उन्होंने बताया कि सरकार की इस योजना का लाभ लगभग 25 लाख परिवारों को मिलेगा. इस मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी भी मौजूद थी. सोनिया गांधी ने इस योजना के बारे में और जानकारी देते हुए कहा कि यह योजना आधार कार्ड से जुड़ा होगी और पीडीएस स्कीम से अलग होगी. उन्होंने इस योजना को लागू करने के लिए दिल्ली सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि इस स्कीम की सबसे अच्छी बात ये है कि पैसा जरूरतमंद परिवार की महिला सदस्य को मिलेगा.

अगर श्रीमती दीक्षित द्वारा दिए गए आँकडों को सही माने तो एक व्यक्ति के लिए 4 रुपए प्रतिदिन का राशन पर्याप्त होना चाहिए. वैसे ये पहली बार नहीं है जब यूपीए सरकार के किसी नुमाइंदे ने आम आदमी की रोजाना जरूरतों से संबंधित ऐसा बेतुका बयान दिया है. इससे पहले योजना आयोग के अध्यक्ष मोंटेक सिंह अहलूवालिया ने दावा किया था कि 29 रुपए रोज में एक परिवार गुजारा कर सकता हैं और मनमोहन सिंह सरकार ने बकायदा हलफनामा दाखिल कर कहा था कि सवा रुपए में खाना मिलता है और अगर आप इतना खर्च करते हैं तो आपको गरीब नहीं माना जाएगा.